छात्रों को मोहन बाबू का भावुक संदेश: 'खुदकुशी मत करो, ज़िंदा रहो क्योंकि....'

तेलंगाना में छात्र की मौत के बाद मोहन बाबू ने छात्रों से कहा कि अपनी जान लेकर वो अपने माँ-बाप को तकलीफ़ में नहीं डालें और उन्हें सज़ा नहीं दें.

News18Hindi
Updated: April 26, 2019, 7:00 PM IST
छात्रों को मोहन बाबू का भावुक संदेश: 'खुदकुशी मत करो, ज़िंदा रहो क्योंकि....'
प्रतीकात्मक तस्वीर.
News18Hindi
Updated: April 26, 2019, 7:00 PM IST
(वेंकटेश हाकिमपेट)
ओजस्वी भाषण और अभिनय के लिए मशहूर अभिनेता सांसद मोहन बाबू ने गुरुवार को परीक्षा में असफल रहने वाले तेलंगाना के एक छात्र की कथित आत्महत्या पर दुख प्रकट किया. उन्होंने छात्रों से अपील की कि परीक्षा में मनचाहे नतीजे नहीं आने पर वो खुदकुशी जैसा क़दम न उठाएं.



READ: शिवसेना ने तोड़ा था फिल्‍म इंडस्‍ट्री का दबदबा

एक छात्र की मौत पर अफ़सोस ज़ाहिर करते हुए मोहन बाबू ने छात्रों से अपील की है कि अपनी जान लेने जैसा कोई उग्र क़दम उठाने से बचें. पासिंग मार्क्स लाना ही जीवन में सब कुछ नहीं है और इसकी वजह से ज़िंदगी खत्म कर देना कोई बुद्धिमानी नहीं है. मोहन बाबू श्री विद्या निकेतन नाम से शैक्षिक संस्थान चलाते हैं. उन्होंने कहा कि छात्रों के इस तरह जीवन समाप्त करने से माँ-बाप, परिवार के सदस्यों और दोस्तों के लिए बहुत बड़ी क्षति होती है.

यूपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं कक्षा के नतीजे सबसे पहले देखने के लिए यहां क्लिक करें.

अभी हाल ही में उन्होंने छात्रों की फ़ीस की राशि जारी करने में विफल रहने के लिए सरकार की आलोचना की थी. उन्होंने कहा कि संस्थान चलाने के साथ-साथ वह इस बात को सुनिश्चित करते हैं कि ये संस्थान ठीक से काम करें और छात्रों को सामंजस्यपूर्ण माहौल में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध हो ताकि छात्र अपने पढ़ाई में अच्छा कर सकें.

तेलंगाना में छात्र की मौत के बाद मोहन बाबू ने छात्रों से कहा कि अपनी जान लेकर वो अपने माँ-बाप को तकलीफ़ में नहीं डालें और उन्हें सज़ा नहीं दें. माँ-बाप हमेशा चाहते हैं कि उनके बच्चे पढ़-लिखकर कामयाब बनें और जीवन में शीर्ष पर पहुंचें. 'ईश्वर ने हमें जीवन दिया है और हम इस जीवन का अंत खुद नहीं कर सकते. सिर्फ़ इसलिए कि हम कुछ ज़रूरी अंक परीक्षा में नहीं ला पाए.'
Loading...

उन्होंने छात्रों से आह्वान किया कि छात्रों को समझना चाहिए कि उनके ऐसा से उनके माँ-बाप पर क्या बीतती है. वो अपने माँ-बाप को दृढ़ विश्वास दिलाएँ कि अपना जीवन सुरक्षित रखते हुए लक्ष्य को हासिल करेंगे और भविष्य में उन्नति करेंगे.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

ये भी पढ़ें-
ANALYSIS: डिंपल यादव का मायावती के पैर छूने के पीछे ये है सियासी गणित
BJP को हराने के लिए नहीं, 2022 में UP सीएम बनाने के लिए चुनाव लड़ रही है कांग्रेस- अखिलेश
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार