रजनीकांत ने कहा- पेरियार पर टिप्‍पणी के लिए क्‍यों मांगू माफी, मैंने छपी खबरों के आधार पर दिया भाषण

रजनीकांत

अभिनेता-राजनेता रजनीकांत (Rajinikanth) ने एक कार्यक्रम के दौरान पेरियार ईवी रामासामी (Periyar EV Ramasamy) के हिंदू देवी-देवताओं का अपमान करने की बात कही थी. जब द्रविड़ विधुथलाई कझगम (DVK) ने उनके खिलाफ पुलिस में शिकायत दी तो वह अपनी बात को सही साबित करने के लिए मीडिया में छपी कई रिपोर्ट (Media Reports) के साथ सामने आए. उन्‍होंने एकबार फिर मामले में माफी मांगने से इनकार कर दिया है.

  • Share this:
    पूर्णिमा मुरली

    चेन्‍नई. अभिनेता-राजनेता रजनीकांत (Rajinikanth) ने एक कार्यक्रम के दौरान समाज सुधारक पेरियार ईवी रामासामी (Periyar EV Ramasamy) पर की गई कथित अपमानजनक टिप्‍पणी को लेकर माफी मांगने से एक बार फिर इनकार कर दिया है. उन्‍होंने चेन्‍नई में 14 जनवरी 2020 को तमिल भाषा की मैगजीन तुगलक की 50वीं वर्षगांठ के कार्यक्रम में कहा था कि पेरियार हिंदू देवी-देवताओं के कट्टर आलोचक थे. उन्‍होंने 1971 में सलेम में अंधविश्वास उन्मूलन सम्मेलन के दौरान भगवान राम और सीता की आपत्तिजनक तस्वीरें दिखाई थीं. बता दें कि पेरियार को द्रविड़ आंदोलन का जनक माना जाता है.

    'मैं अपनी बात पर अडिग हूं, मैंने सच कहा है'
    रजनीकांत ने मंगलवार को कहा कि मैं अपनी बात पर अडिग हूं. मैंने जो कहा था, वो पूरी तरह सच है. मैंने जो भी कहा, उस पर अब विवाद खड़ा हो गया है. मैंने अपने भाषण में द हिंदू और आउटलुक में छपी रिपोर्ट्स (Media Reports) के आधार पर पेरियार पर टिप्‍पणी की थी. पेरियार के बारे में ये सभी बातें मीडिया में छप चुकी हैं. मैंने कुछ भी मनगढंत नहीं बोला है. मैं अपने भाषण पर माफी नहीं मागूंगा. मैंने जो देखा और पढ़ा वही कहा है. द्रविड़ संगठन (Dravidian Outfit) वही कह रहा है, जो उसने देखा है. इस मामले में रजनीकांत के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया गया है. वहीं, मद्रास हाईकोर्ट (Madras High Court) में भी पुलिस को उनके खिलाफ कार्रवाई का आदेश देने की मांग वाली याचिका दायर कर दी गई है.

    डीवीके ने कहा- पेरियार के बारे में बोला झूठ
    सुपरस्‍टार की इस टिप्‍पणी के बाद द्रविड़ विधुथलाई कझगम (DVK) ने आरोप लगाया कि रजनीकांत ने पेरियार के बारे में सरासर झूठ बोला है. संगठन ने रजनीकांत से इस मामले में माफी मांगने की मांग की. इस पर रजनीकांत ने माफी मांगने से इनकार कर दिया था. रजनीकांत ने सोमवार को भी कहा था कि मैं अपनी बात से पीछे नहीं हटूंगा. मैं इसे साबित कर सकता हूं. वहीं, कई जगह उनके खिलाफ प्रदर्शन भी हो रहे हैं. द्रविड़ संगठन ने प्रदर्शन के दौरान रजनीकांत का पुतला भी जलाया. पुलिस ने 50 से ज्‍यादा प्रदर्शनकारियों को हिरासत (Detained) में ले लिया है.

    तमिलनाडु में कई जगह रजनीकांत के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं. द्रविड़ संगठन ने प्रदर्शन के दौरान रजनीकांत का पुतला भी जलाया.


    'राजनीतिक फायदे के लिए बयान दे रहे रजनीकांत'
    द्रविड़ संगठन ने कोयंबटूर पुलिस आयुक्‍त को रजनीकांत के खिलाफ आईपीसी की धारा 153 (A) (धर्म के आधार पर समाज में शत्रुता फैलाना) और 505 (लोगों को भ्रमित करने और उकसाने वाला बयान देना) के तहत कार्रवाई का आवेदन भी भेज दिया है. इसके अलावा संगठन माफी नहीं मांगने पर रजनीकांत के घर का घेराव करने की योजना भी बना रहा है. संगठन के कोयंबटूर प्रमुख नेहरूदास ने कहा कि रजनीकांत ने पेरियार के बारे में झूठे आरोप लगाए हैं. उनकी एक भी बात सच नहीं है. वह राजनीतिक फायदे के लिए ऐसे बयान दे रहे हैं. वह द्रविड़ और पेरियार आंदोलन को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं.

    ये भी पढ़ें:-

    बेंगलुरु: 'बांग्लादेशियों' की अफवाह पर झुग्गी गिराने वाले इंजीनियर को हटाया

    रजनीकांत फिर बोले- पेरियार ने रैली में दिखाई थी राम-सीता की आपत्तिजनक तस्वीरें

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.