अभिनेता आदिल हुसैन के परिवार में ‘विदेशी’

देश मशहूर कलाकारों के परिवार की बेटी असम में संदिग्ध नागरिकों की सूची में, 9 साल से लड़ रही है कानूनी लड़ाई

Tulika | News18Hindi
Updated: August 24, 2018, 7:54 AM IST
Tulika | News18Hindi
Updated: August 24, 2018, 7:54 AM IST
लाइफ ऑफ पाई, इंग्लिश विंग्लिश जैसी मूवी में अपनी एक्टिंग का छाप छोड़ने वाले अभिनेता आदिल हुसैन हाल ही में नॉर्वे ऑस्कर नाम से जानने वाली अमांडा अवार्ड्स में श्रेष्ठ अभिनेता के तौर पर उभरे. 'व्हाट विल पीपल से' नाम की मूवी में किये गए अदाकारी के वजह से आदिल इस सम्मान को जीतने वाले पहले भारतीय अदाकार बने.

इस बेहतरीन कलाकार आदिल हुसैन की भतीजी मेघना शाही का नाम एन आर सी दूसरे ड्राफ्ट में नही हैं. इसकी वजह है वो डी-वोटर यानी 'संदिग्ध नागरिक' है. हालांकि उनके पिता और सारे परिवार वालो का नाम तो एन आर सी दूसरे ड्राफ्ट में है लेकिन उनका नाम नहीं. मेघना शाही को 2009 में अचानक एक दिन डी वोटर करार दे कर उनके घर नोटिस भेजा गया. तब से आज तक पूरा परिवार मेघना के लिए कानूनी लड़ाई लड़ रहा है. परिवार वालों की चिंता और भी बढ़ी जब एन आर सी का मामला सामने आया.

मेघना का नाम गौरिपुर और धुबड़ी दोनों वोटर लिस्ट में रहना भी इसका एक कारण बताया जा रहा है.
मेघना का नाम सिर्फ आदिल से नहीं जुड़ा है, बल्कि वे भारतीय सिनेमा के पुरोधा स्वर्गीय प्रमथेश बरुआ की नातिन है. असम गौरव गोआलपरिया लोकगीत की सम्राज्ञी स्वर्गीय प्रतिमा पांडये बरुआ उनकी नानी हैं. मेघना के पिता अजहर हुसैन के एक भाई आदिल हुसैन और दूसरे भाई स्थानीय प्राक्तन विधायक मनवर हुसैन हैं. ऐसे परिवार की बिटिया का डी वोटर वाला किस्सा 9 साल बाद भी अनसुलझा कैसे, ये एक बड़ा सवाल है. हालांकि वे ट्रिब्यूनल में मेघना के केस की सुनवाई को ले कर मेघना के पिता काफी पॉजिटिव है.

डी वोटर करार दिए गए लोगो को एन आर सी में अप्लाई करने का मौका नहीं दिया गया. इसकी वजह से लाखों लोगो के नाम ड्राफ्ट में शामिल नही हुआ. जिन लोगो के पास भारतीय नागरिक होने का सबूत ना हो उन्हें जिला डिस्ट्रिक्ट इलेक्टोरल रजिस्ट्रेशन ऑफिसर या पुलिस की बॉर्डर विंग के जरिये डी वोटर लिस्ट में डाला जाता है. जब तक इन लोगो के केस में अंतिम फैसला ना हो तब तक उनको वोट देने के अधिकार से वंचित रखा जाता है. 1997 में ये सिलसिला असम में शुरू हुआ. फरवरी 2018 के स्टेट असेम्बली में दाखिल की गई सरकारी रिपोर्ट के अनुसार असम में कुल 1लाख 25 हज़ार 333 डी वोटर है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर