मुंबई से श्रीनगर के लिए साइकिल से​ निकले चौकीदार की मदद के लिए पहुंचा प्रशासन

आरिफ अपने पिता से मिलने साइकिल से 2100 किलोमीटर के सफर पर निकला है.
आरिफ अपने पिता से मिलने साइकिल से 2100 किलोमीटर के सफर पर निकला है.

CNN-News18 की छोटी सी कोशिश ने रंग दिखाया है और अब गुजरात पुलिस ने आरिफ को कश्मीर जाने वाले एक ट्रक में बैठा दिया है, जहां से वह आगे का सफर तय करेगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. मुंबई से अपने बीमार पिता को देखने के लिए साइकिल से श्रीनगर के लिए निकले मोहम्मद आरिफ की मदद के लिए अब प्रशासन आगे आ गया है और गुजरात से उसे ढूंढ निकाला गया है. बता दें कि CNN-News18 की छोटी सी कोशिश ने रंग दिखाया है और अब गुजरात पुलिस ने आरिफ को कश्मीर जाने वाले एक ट्रक में बैठा दिया है, जहां से वह आगे का सफर तय करेगा. आरिफ को सफर के दौरान किसी तरह की कोई दिक्कत न हो इसके लिए खाने के पैकेट भी दिए गए हैं.

बता दें कि मोहम्मद आरिफ (36) नामक यह शख्स मुंबई के बांद्रा में तुला टावर में एक चौकीदार की नौकरी करता है. आरिफ अपने पिता से​ मिलने मुंबई से 2100 किलोमीटर दूरी का सफर साइकिल से तय कर रहा था. कुछ दिन पहले ही आरिफ को घर से फोन आया कि उसके पिता को दिल का दौरा पड़ा है और वह गंभीर हालत में हैं. इसके बाद आरिफ मुंबई से राजौरी जाने के लिए हर मुमकिन को​शिश की. उसने बताया कि कोरोना वायरस की महामारी के कारण देशभर में लगे लॉकडाउन की वजह से कोई ट्रेन या बस उपलब्ध नहीं थी. आरिफ ने फिर एक साथी चौकीदार को 500 रुपये दिए और उसकी साइकिल ले ली. आरिफ का कहना है कि उसे किसी भी तरह अपने पिता के पास पहुंचना है फिर इसके लिए उसे चाहे कितनी भी देर साइकिल क्यूं न चलाना पड़े.

आरिफ ने बताया कि मैंने गुरुवार को सुबह 10 बजे के आसपास टॉवर को छोड़ दिया था. उसने बताया कि रास्ते में कई पुलिसकर्मी मिले, जिन्हें उसने अपनी परेशानी बताई. उसने बताया कि उसकी ​मदद किसी ने नहीं की लेकि​न उसे रोका भी नहीं.लॉकडाउन के बारे में वो जानता है कि जो जहां है वहीं रहे लेकिन उसे आगे बढ़ना ही होगा. आरिफ ने क​हा मेरी बात पर हर किसी को विश्वास है तभी हर कोई पुलिस​कर्मी उसे आगे जाने दे रहा है.



इसे भी पढ़ें :-  इटली में दिखी आशा की किरण! घट रही है मौत की संख्या, ICU में भी कम हो रहे हैं मरीज़
गुजरात-राजस्थान सीमा पर पहुंच चुका था आरिफ
रविवार सुबह जब CNN-News18 ने उनसे बात की तो आरिफ ने बताया कि वह गुजरात-राजस्थान सीमा पर पहुंच गया है. आरिफ ने बताया कि उसने पूरी रात साइकिल चलाई. आज सुबह गुजरात के पुलिस कर्मियों ने मुझे एक ट्रक पर बिठाया और मुझे खाने के लिए खाना भी दिया.

इसे भी पढ़ें :- भागने की फिराक में थे जमात में शामिल 8 मलेशियाई, प्लेन पर बैठने से पहले पुलिस ने पकड़ा

सीआरपीएफ ने आरिफ के पिता को अस्पताल में भर्ती कराया
इस बीच, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के अधिकारी राजौरी जिले में आरिफ के घर गए और उसके पिता को अस्पताल में भर्ती कराया. विशेष डीजी (सीआरपीएफ) जुल्फिकार हसन ने CNN-News18 को बताया, उनके पिता की हालत गंभीर है. रविवार को कुछ परीक्षण और प्रक्रियाएं की जाएंगी. यदि आवश्यक हुआ तो हम उन्हें कटरा के नारायण अस्पताल में स्थानांतरित करेंगे.

इसे भी पढ़ें :-
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज