ADR की रिपोर्ट - 17 क्षेत्रीय दलों ने चुनाव आयोग को नहीं दी चंदे की जानकारी

48 क्षेत्रीय दलों में से सिर्फ 15 पार्टियों ने ही तय समय में चुनाव आयोग को वित्त वर्ष 2017-18 में मिले चंदे की रिपोर्ट सौंपी.

News18Hindi
Updated: May 21, 2019, 8:19 PM IST
ADR की रिपोर्ट - 17 क्षेत्रीय दलों ने चुनाव आयोग को नहीं दी चंदे की जानकारी
48 क्षेत्रीय दलों में 16 ने 1 से 31 दिन की देरी से चुनाव आयोग को चंदे की जानकारी मुहैया कराई.
News18Hindi
Updated: May 21, 2019, 8:19 PM IST
चुनाव आयोग की ओर से रिपोर्ट मांगने के बावजूद 17 क्षेत्रीय दलों ने वर्ष 2017-18 में मिले चंदे की जानकारी नहीं दी है. एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) की रिपोर्ट के मुताबिक, 48 क्षेत्रीय दलों में से सिर्फ 15 पार्टियों ने ही तय समय में चुनाव आयोग को चंदे की रिपोर्ट सौंपी. वहीं, 16 अन्य क्षेत्रीय दलों ने एक से 31 दिन की देरी से चंदे की जानकारी आयोग को दी.

एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक, 17 क्षेत्रीय दलों ने अब तक वर्ष 2017-18 के दौरान मिले चंदे की जानकारी चुनाव आयोग को दी ही नहीं है. जानकारी नहीं देने वाले दलों में असम गण परिषद, मिजो नेशनल फ्रंट, इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) शामिल हैं. आयोग को जानकारी उपलब्ध करा चुके दलों ने 20,000 रुपये से कम और ज्यादा वाले चंदे की रिपोर्ट सौंपी है. अब तक मिली जानकारी के मुताबिक, सभी क्षेत्रीय दलों को 54.81 करोड़ रुपये का चंदा मिला. इन दलों को 2,824 लोगों ने चंदा दिया.



बीजद को सबसे ज्यादा 13.04 करोड़ का चंदा 

नवीन पटनायक की बीजू जनता दल (BJD) को छह लोगों ने 13.04 करोड़ रुपये चंदा दिया. वहीं, नीतीश कुमार के जनता दल यूनाइटेड (JDU) को 27 लोगों ने 11.19 करोड़ रुपये दान किए. चंदा पाने वालों में तीसरे पायदान पर खड़े क्षेत्रीय दल वाईएसआर कांग्रेस (YSRC) को 8.35 करोड़ का डोनेशन मिला. अब तक उपलब्ध कराए गए चंदे के आंकड़ों के मुताबिक कुल दान का 59.44 फीसदी यानी 32.58 करोड़ रुपये इन्हीं तीनों दलों को मिला है.

आप को विदेश से मिला 41.60 लाख का चंदा 

एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी को मिले चंदे का पांच फीसदी विदेश से आया, जो करीब 41.60 लाख रुपये होता है. एडीआर की यह रिपोर्ट वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान क्षेत्रीय दलों को मिले चंदे पर केंद्रित है. इस चंदे की जानकारी क्षेत्रीय दलों ने चुनाव आयोग को दी है.

ये भी पढ़ें:
Loading...

 मिशन 2019- विपक्ष दलों के खिलाफ PM मोदी और अमित शाह का ये था मास्टर स्ट्रोक?

Lok Sabha Exit Poll 2019 : कांग्रेस का वो सीक्रेट प्लान जो परवान नहीं चढ़ सका, नहीं मिला यूपी, दिल्ली में कोई लाभ

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...