Home /News /nation /

2017-18 में BJP को बाकी दलों के मुकाबले मिला 12 गुना ज्यादा चंदा: ADR रिपोर्ट

2017-18 में BJP को बाकी दलों के मुकाबले मिला 12 गुना ज्यादा चंदा: ADR रिपोर्ट

अमित शाह के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PTI)

अमित शाह के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PTI)

बीजेपी और कांग्रेस को सबसे अधिक चंदा ‘प्रूडेंट इलैक्टोरल ट्रस्ट’की ओर से मिला. यह बड़े कॉरपोरेट घरानों द्वारा समर्थित कंपनी है, जिसमें परिसंपत्ति और टेलीकाम सेक्टर से जुड़ी बड़ी कंपनियां शामिल हैं.

    वित्तीय वर्ष 2017-18 में देश की राष्ट्रीय पार्टियों को मिला 50% से ज्यादा फंड अज्ञात स्रोतों से आया. इसमें इलेक्टोरल बॉन्ड और अपनी इच्छा से दिया गया फंड भी शामिल है. वहीं, सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी को पिछले वित्त वर्ष में अन्य राष्ट्रीय पार्टियों के मुकाबले 12 गुना ज्यादा यानी 437 करोड़ रुपये से अधिक राजनीतिक चंदा मिला. बुधवार को इलेक्शन वॉचडॉग एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट में यह बात सामने आई है.

    प्रियंका गांधी की राजनीति में एंट्री पर बोले PM- 'दूसरी जगह परिवार से ही पार्टी बनती है'

    एडीआर ने 6 राष्ट्रीय पार्टियों के इनकम टैक्स रिटर्न और उन्हें मिले दान के आधार पर ये एनालिसिस की है. पार्टियों ने यह ब्योरा चुनाव आयोग को दिया था. इसके मुताबिक बीजेपी, कांग्रेस, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई), बहुजन समाज पार्टी, तृणमूल कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को 2017-18 में कुल आय 1293.05 करोड़ रुपये रही. इसमें से 689.44 करोड़ अज्ञात स्रोतों से आया. यह कुल आय का 53 फीसदी है.

    बीजेपी और कांग्रेस को सबसे अधिक चंदा ‘प्रूडेंट इलैक्टोरल ट्रस्ट’की ओर से मिला. यह बड़े कॉरपोरेट घरानों द्वारा समर्थित कंपनी है, जिसमें परिसंपत्ति और टेलीकाम सेक्टर से जुड़ी बड़ी कंपनियां शामिल हैं.

    एडीआर रिपोर्ट में और क्या है?
    >>राष्ट्रीय दलों द्वारा घोषित 20 हजार रुपये से अधिक के चंदे में वर्ष 2017.18 के लिए राष्ट्रीय दलों ने 469.89 करोड़ रुपया मिलने की घोषणा की है. इसमें से ज्यादातर हिस्सा 437.04 करोड़ रुपये बीजेपी के खाते में गया, जबकि कांग्रेस को 26.65 करोड़ रुपये मिले.

    >>एडीआर ने एक बयान में बताया, 'बीजेपी ने अपने जिस चंदे की घोषणा की है वह कांग्रेस, एनसीपी, सीपीएम, कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) और तृणमूल कांग्रेस द्वारा इसी अवधि में घोषित कुल चंदे से 12 गुना अधिक है.’

    जब प्रियंका के एक रोड शो ने तय की थी सोनिया की जीत, फीका पड़ गया था सुषमा का जादू

    >>बयान में बताया गया है कि राष्ट्रीय दलों को करीब 90 फीसदी चंदा कोरपोरेट घरानों से और बाकी 10 फीसदी लोगों से मिला. कॉरपोरेट घरानों और कारोबारियों ने साल 2017.18 में बीजेपी को 400.23 करोड़ रुपये राजनीतिक चंदे के रूप में दिए, जबकि कांग्रेस को केवल 19.29 करोड़ रुपये ही मिले.

    >>इस बीच बहुजन समाज पार्टी ने ऐलान किया है कि इस अवधि में उसे 20 हजार रुपये से अधिक कोई चंदा नहीं मिला. बसपा पिछले 12 साल से हर साल यही घोषणा करती आ रही है. दिल्ली स्थित विचार मंच ने यह जानकारी दी है.

    बिहार महागठबंधन में सीटों पर फंसा पेंच, 'जिद' पर अड़ी रही कांग्रेस तो RJD अपनाएगी ये प्लान!

    >>दलों को मिले राजनीतिक चंदे में से दिल्ली से पार्टियों को 208. 56 करोड़ रुपये, महाराष्ट्र से 71.93 करोड़ और गुजरात से 44.02 करोड़ रुपये मिले.

    >>एडीआर ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि कुल चंदे में से 42.60 करोड़ रुपये यानी करीब 9.07 फीसदी राशि का अधूरी सूचना के कारण पता नहीं चल सका कि यह किस राज्य से आया है. (PTI इनपुट के साथ)

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: All India Congress Committee, BJP

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर