ADR: 4 साल में 44% विधायकों ने बदले दल, बीजेपी से कितनों ने दिया इस्तीफा?

मध्य प्रदेश में पक्ष-विपक्ष आज आमने-सामने होंगे. (सांकेतिक तस्वीर)

मध्य प्रदेश में पक्ष-विपक्ष आज आमने-सामने होंगे. (सांकेतिक तस्वीर)

ADR Report: 2016-2020 के दौरान पार्टी बदलकर राज्यसभा चुनाव फिर से लड़ने वाले 16 राज्यसभा सदस्यों में से 10 भाजपा में शामिल हुए,

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2021, 10:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. चुनावी और राजनीतिक सुधारों की पैराकार संस्था ‘एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिकट रिफॉर्म्स’ (ADR) ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि साल 2016-2020 के बीच पार्टी बदलने वाले 44 फीसदी विधायकों ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) का दामन थाम लिया. रिपोर्ट के मुताबिक इस दौरान कांग्रेस (Congress) के 170 विधायक दूसरे दलों में शामिल हो गए जबकि भाजपा के सिर्फ 18 विधायकों ने दूसरी पार्टियों की तरफ रुख किया.

एडीआर की इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि 2016-2020 के दौरान पाला बदलकर फिर से चुनावी मैदान में उतरने वाले 405 विधायकों में से 182 भाजपा में शामिल हुए तो 28 विधायक कांग्रेस और 25 विधायक तेलंगाना राष्ट्र समिति का हिस्सा बने.

Youtube Video


कांग्रेस के 170 विधायक दूसरे दलों में शामिल
रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान पांच लोकसभा सदस्य भाजपा को छोड़कर दूसरे दलों में शामिल हुए तो 2016-2020 के दौरान कांग्रेस के सात राज्यसभा सदस्यों ने दूसरी पार्टियों में शामिल हुए. एडीआर की इस रिपोर्ट में कहा गया है कि 2016-2020 में हुए चुनावों के दौरान कांग्रेस के 170 विधायक दूसरे दलों में शामिल हो गए तो इसी दौरान भाजपा के सिर्फ 18 विधायकों ने दूसरी पार्टियों का दामन लिया.

ये भी पढ़ें:- QUAD: पहली बार मंच पर साथ होंगे PM मोदी-बाइडन, हो सकती है चीन की घेराबंदी

कई राज्यों में बदली सरकार



एडीआर ने कहा, ‘यह गौर करने वाली बात है कि मध्य प्रदेश, मणिपुर, गोवा, अरुणाचल प्रदेश और कर्नाटक में सरकार का बनना-बिगड़ना विधायकों का पाला बदलने की बुनियाद पर हुआ.’ इस रिपोर्ट के अनुसार, 2016-2020 के दौरान पार्टी बदलकर राज्यसभा चुनाव फिर से लड़ने वाले 16 राज्यसभा सदस्यों में से 10 भाजपा में शामिल हुए,
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज