गोवा यूनिवर्सिटी के पास अफगानी छात्र पर हमला, NSUI ने कहा- जेएनयू जैसा न हो हाल

सिरफिरे युवक ने चाकू मारकर किशोरी की हत्या की

विश्वविद्यालय के ‘गोवा बिजनेस स्कूल’ (Goa Business School) में एम. कॉम के छात्र मतिहुल्ला आरिया (24) हमले में घायल हो गए और वह डोना पॉला के एक निजी अस्पताल के आईसीयू में भर्ती हैं.

  • Share this:
    पणजी. गोवा विश्वविद्यालय (Goa University) में अफगानिस्तान के एक छात्र (Afghan Student) पर कुछ लोगों ने चाकुओं से हमला कर दिया. पुलिस के एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि घटना विश्वविद्यालय परिसर के पास डोना पॉला (Dona Paula) इलाके में सोमवार को दोपहर में हुई. पुलिस ने कहा कि विश्वविद्यालय के ‘गोवा बिजनेस स्कूल’ (Goa Business School) में एम. कॉम के छात्र मतिहुल्ला आरिया (24) हमले में घायल हो गए और वह डोना पॉला के एक निजी अस्पताल के आईसीयू में भर्ती है. इस संबंध में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है.

    आरोपी के खिलाफ किया मामला दर्ज
    पणजी पुलिस ने इस मामले में महाराष्ट्र निवासी सतीश नीलकंठे को कथित तौर पर छात्र पर हमला करने के मामले में गिरफ्तार किया है. गोवा विश्वविद्यालय में विदेशी छात्रों के निदेशक राहुल त्रिपाठी ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. अधिकारी ने कहा, 'हमले का कारण पता नहीं चल पाया है. हम आरोपी से पूछताछ कर रहे हैं. आरोपी के खिलाफ धारा 326 के तहत मामला दर्ज किया गया है, अन्य तीन छात्रों की तलाश जारी है.'

    जेएनयू जैसी न हो स्थिति
    इस बीच, नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (National Students Union of India) के गोवा प्रमुख अहराज मुल्ला ने राज्यपाल सत्य पाल मलिक को पत्र लिख कर गोवा विश्वविद्यालय में जेएनयू जैसी स्थिति उत्पन्न होने का डर जाहिर किया है. मुल्ला ने कहा, 'यह (पत्र) गोवा में हाल ही में अफगानिस्तान के छात्र पर हुए हमले की जानकारी आपको देने के लिए है. राज्य में कानून एवं व्यवस्था बिगड़ गई है और छात्रों को गोवा में जेएनयू जैसी स्थिति बन जाने का भय है.'

    पुलिस सुरक्षा की मांग
    कांग्रेस की छात्र शाखा  NSUI  ने कहा कि गोवा में अफगानी छात्र पर हमला दूसरे देशों से यहां पढ़ाई करने के लिए आने वाले छात्रों की सुरक्षा पर भी सवाल उठाता है. मुल्ला ने कहा कि इस घटना से पूरी दुनिया में देश के कानून एवं व्यवस्था को लेकर गलत संदेश जाएगा. उन्होंने गोवा विश्वविद्यालय में एकता भंग करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने और जेएनयू या जामिया जैसी स्थिति उत्पन्न होने से रोकने के लिए राज्य के सभी कॉलेजों में पुलिस सुरक्षा की मांग की.

    गौरतलब है कि दिल्ली में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) परिसर में कुछ दिन पहले कुछ नकाबपोशों ने परिसर में घुस कर छात्रों तथा शिक्षकों पर हमला कर दिया था. बाद में प्रशासन को पुलिस को बुलाना पड़ा था. इसमें जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष सहित 35 लोग घायल हो गए थे और परिसर में सम्पत्ति को भी काफी नुकसान पहुंचा था.

    वहीं राष्ट्रीय राजधानी स्थित जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में भी संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन को लेकर काफी हिंसा हुई थी.

    ये भी पढ़ें : एक कार्यकर्ता से पार्टी के अध्यक्ष तक, कैसा रहा जेपी नड्डा का राजनीतिक सफर

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.