हमले के बाद बोले दिलीप घोष- ये कोई नई बात नहीं, BJP की लोकप्रियता से परेशान है TMC

बंगाल भाजपा प्रमुख ने कहा कि हमें राजनीतिक हिंसा को रोकने के लिए बंगाल में बदलाव की जरूरत है. (Photo-ANI)
बंगाल भाजपा प्रमुख ने कहा कि हमें राजनीतिक हिंसा को रोकने के लिए बंगाल में बदलाव की जरूरत है. (Photo-ANI)

West Bengal News: बंगाल के अलीपुरद्वार जिले के जयगांव क्षेत्र में गुरुवार को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष के काफिले पर पत्थर फेंके गए और काले झंडे दिखाए गए, जहां वह पार्टी के कार्यक्रमों में हिस्सा लेने गए थे

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 12, 2020, 10:45 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष (West Bengal BJP Chief Dilip Ghosh) ने काफिले पर हमले के बाद कहा है कि ये तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) की निराशा को दिखाता है. घोष ने कहा कि बंगाल बदलाव में की जरूरत है. दिलीप घोष ने संवाददाताओं से कहा कि यह कोई नई बात नहीं है, मुझ पर कई बार हमले हुए हैं. घोष ने कहा कि क्योंकि बीजेपी पश्चिम बंगाल (West Bengal) में लोकप्रियता हासिल कर रही है इसलिए टीएमसी (TMC) ऐसे हमलों को अंजाम दे रही है क्योंकि वे निराश हैं. बंगाल भाजपा प्रमुख ने कहा कि हमें राजनीतिक हिंसा को रोकने के लिए बंगाल में बदलाव की जरूरत है.

बंगाल के अलीपुरद्वार जिले के जयगांव क्षेत्र में गुरुवार को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष के काफिले पर पत्थर फेंके गए और काले झंडे दिखाए गए, जहां वह पार्टी के कार्यक्रमों में हिस्सा लेने गए थे. गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) के कई कार्यकर्ताओं को घोष के खिलाफ नारे लगाते हुए देखा गया, जो उन्हें वहां से चले जाने को कह रहे थे. भाजपा के सूत्रों ने कहा कि हमले में घोष का वाहन आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गया. पुलिस अधिकारियों के एक दल ने प्रदर्शनकारियों और भाजपा समर्थकों को तितर-बितर करने के बाद स्थिति को नियंत्रित किया.

ये भी पढ़ें- Corona की चपेट में आए कांग्रेस नेता सचिन पायलट, लोगों से की ये अपील



भाजपा ने टीएमसी पर लगाया हमले का आरोप
दिलीप घोष पर हुए इस हमले में राज्य की सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के शामिल होने का आरोप लगाते हुए भाजपा ने गुरुवार को दावा किया कि बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) के परिणामों से लगे धक्के से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ‘‘बौखला’’गई है. भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया (Gaurav Bhatia) ने पार्टी मुख्यालय में संवाददताओं से बातचीत के दौरान पश्चिम बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं की कथित हत्याओं के लिए तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा, ‘‘किसी तरह सत्ता में बने रहने के लिए यह हत्याओं का खेल खेला जा रहा है. पूरे पश्चिम बंगाल में बदलाव की लहर चल रही है और इससे वह बौखला गई हैं.’’

भाटिया ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Nardendra Modi) के बुधवार को भाजपा मुख्यालय के उस संबोधन का भी उन्होंने जिक्र किया जिसमें उन्होंने तृणमूल कांग्रेस पर करारा हमला बोला था और कहा था कि जो भाजपा को लोकतांत्रिक तरीके से चुनौती नहीं दे पा रहे हैं वे भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या का सहारा ले रहे हैं.

भाटिया ने कहा, ‘‘आप (ममता बनर्जी) जानती हैं कि आप भाजपा की विचारधारा का मुकाबला नहीं कर सकतीं. इसलिए भाजपा के लगभग 115 कार्यकर्ताओं को मौत के घाट उतार दिया गया.’’

ये भी पढ़ें- केंद्र ने लेह को लद्दाख के बजाय J&K का हिस्सा दिखाने पर ट्विटर को भेजा नोटिस

भाजपा के इस प्रकार के आरोपों को तृणमूल कांग्रेस की सरकार लगातार खारिज करती रही है.

साम्प्रदायिक और तुष्टीकरण का लगाया आरोप
कई भाजपा कार्यकर्ताओं का नाम लेते हुए भाटिया ने आरोप लगाया कि सभी की हत्या राज्य की सत्ताधारी पार्टी के इशारे पर की गई. पश्चिम बंगाल सरकार पर ‘‘साम्प्रदायिक और तुष्टीकरण’’ की राजनीति का आरोप लगाते हुए भाटिया ने कहा कि ममता बनर्जी राहिंग्याओं से ‘‘प्यार’’ करती हैं और देश से उन्हें बाहर निकाले जाने के खिलाफ बोलती हैं जबकि भारतीय नागरिकों पर हमले होते हैं तो वह मुंह फेर लेती है. उन्होंने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता राज्य में ‘‘जंगलराज’’ फैला रहे हैं और ममता बनर्जी चुप हैं.

भाटिया ने आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था ध्वस्त हो गई है. उन्होंने कहा, ‘‘पश्चिम बंगाल भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष पर जानलेवा हमला हुआ. बिहार के परिणाम की गूंज ममता बनर्जी की बौखलाहट की वजह बन रही है.’’

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल के अलीपुरद्वार जिले के जयगांव क्षेत्र में पार्टी कार्यक्रमों में हिस्सा लेने गए दिलीप घोष के काफिले पर पत्थर फेंके गए और काले झंडे दिखाए गए. इसमें घोष का वाहन आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गया. (भाषा के इनपुट सहित)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज