• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • चीन के बाद अब पाकिस्तान को मजबूत कर रहा है तुर्की, खुफिया रिपोर्ट से खुलासा

चीन के बाद अब पाकिस्तान को मजबूत कर रहा है तुर्की, खुफिया रिपोर्ट से खुलासा

भारत पर अब ड्रोन के जरिए निशाना साधने की तैयारी है. (प्रतीकात्मक फोटो)

पाकिस्तान (Pakistan) बड़ी तादाद में मानवरहित टोही और युद्धक विमान की खरीद पर जोर दे रहा है. इसके लिए न सिर्फ वो रूस की तरफ झोली फैला रहा है बल्कि तुर्की और चीन जैसे ऑल वेदर फ्रेंड की भी मदद ले रहा है.

  • Share this:

नई दिल्ली. पाकिस्तान (Pakistan) को भारत के साथ हर युद्ध में उसे शर्मनाक हार मिली. कश्मीर में आंतकियों के जरिये प्रॉक्सी वॉर (Proxy War) में भी उसे मुंह की खानी पड़ रही है. यही कारण है कि भारतीय इलाकों में ताक-झांक करने और बिना किसी नुकसान के भारत के खिलाफ भविष्य की लड़ाइयों में जीत हासिल करने के लिए पाकिस्तान रणनीति बदल रहा है. पाकिस्तान बड़ी तादाद में मानवरहित टोही और युद्धक विमान की खरीद पर जोर दे रहा है. इसके लिए न सिर्फ वो रूस की तरफ झोली फैला रहा है बल्कि तुर्की और चीन जैसे ऑल वेदर फ्रेंड की भी मदद ले रहा है. खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान तुर्की से कॉमिकाज़े ड्रोन खरीदने की तैयारी में है. इसे सुसाइड ड्रोन भी कहा जाता है.

इस ड्रोन की रेंज 10 किलोमीटर तक है और ये एक बार में 6 रॉकेट अपने साथ ले जा सकता है. एक ग्राउंड स्टेशन के रिमोट में एक साथ 10 ड्रोन को संचालित कर सकता है. वहीं चीन से भी आर्म्ड ड्रोन का सौदा हो चुका है. पाकिस्तान चीन से विंग लूंग-II के दो अतिरिक्त सिस्टम भी ले रहा है जो कि इसी साल पाकिस्तानी वायुसेना को मिल जाएंगे.

पाकिस्तानी सेना और चीनी कंपनी के बीच चल रही बातचीत
इससे पहले 3 विंग लूंग -II सिस्टम पाकिस्तान के पास मौजूद हैं जो उसे इसी साल मिले हैं. ये एक नेक्स्ट जेनेरेशन मिडियम ऑल्टेट्यूड लॉन्ग इंड्योरेंस और आर्म्ड ड्रोन है. इससे पहले पाकिस्तान चीनी CH-4 ड्रोन का इस्तेमाल कर रहा है. सूत्रों की मानें तो पाकिस्तानी सेना और चीनी कंपनी मिलकर सुसाइड ड्रोन WS-43, CH-901, ZT-39v के साझा निर्माण के लिए भी बातचीत कर रहे हैं.

चीन की टीम को निमंत्रण
यही नहीं पाकिस्तानी सेना ने तो चीन से 17 से 22 अगस्त के बीच चार से पांच सदस्यीय टीम को पाकिस्तान भेजने को कहा है ताकि साझा उत्पादन पर चर्चा हो सके. वहीं पाकिस्तान ने रूस से भी मिनी यूएवी लेने की पूरी कर ली है. रूस की एक टीम इसी हफ्ते मिनी यूएवी S-250 के ट्रायल के लिए पाकिस्तान पहुंच रही है. इस ट्रायल से पहले ही पाकिस्तान की एक कंपनी ने पिछले महीने ही सेना के एक दर्जन से ज्यादा आधिकारियों को मुज़फ़्फ़राबाद एयरफील्ड पर S-250 को ऑपरेट करने की ट्रेनिंग भी दे दी है.

रूस के यूएवी का ट्रायल
इन मिनी यूएवी का ट्रायल 26 जुलाई से 13 अगस्त के बीच बहावलपुर, तुरबत और मुज़फ़्फ़राबाद में किया जा रहा है. हाल ही में पाकिस्तान ने भारतीय सीमा के बेहद करीब पुराने पड़ चुकी अपनी एयर स्ट्रिप को ड्रोन के संचालन के लिए दुरुस्त करवाया है. माना जा रहा है कि पाकिस्तान अब भारत पर यूएवी के जरिए लड़ाई की तैयारी कर रहा है लेकिन उसे शायद ये नहीं पता कि भारत उसकी हर नब्ज को अच्छी तरह से पहचानता है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज