Home /News /nation /

प्रशांत किशोर का राहुल गांधी पर तंज, बोले- कांग्रेस का नेतृत्व करना एक व्यक्ति का दिव्य अधिकार नहीं, 90% चुनाव हारती है पार्टी

प्रशांत किशोर का राहुल गांधी पर तंज, बोले- कांग्रेस का नेतृत्व करना एक व्यक्ति का दिव्य अधिकार नहीं, 90% चुनाव हारती है पार्टी

कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व को लेकर पीके इससे पहले भी हमला कर चुके हैं.(फाइल फोटो)

कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व को लेकर पीके इससे पहले भी हमला कर चुके हैं.(फाइल फोटो)

Prashant Kishor, Mamta Banerjee, Rahul Gandhi: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Election) में टीएमसी की जीत के पीछे अहम रोल निभाने वाले प्रशांत किशोर ने कहा कि कांग्रेस (Congress) पिछले दस सालों में 90 प्रतिशत से अधिक चुनाव हार चुकी है, लेकिन ऐसे नेतृत्व का चुनाव भी लोकतांत्रिक तरीके से होना चाहिए. इससे एक दिन पहले ममता बनर्जी ने भी राहुल गांधी का नाम लिए बिना उन पर निशाना साधा था.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) जहां एक तरफ विपक्षी पार्टियों को मिलाकर मुख्य रूप से विपक्ष में लीडरशिप की भूमिका बनाने में जुटी हैं तो अब वहीं चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने कांग्रेस पर तंज कसा है. पिछले कुछ वक्त से प्रशांत किशोर कांग्रेस पर हमला बोलने का एक भी मौका नहीं छोड़ रहे हैं. गुरुवार को उन्होंने ट्वीट करके विपक्ष की लीडरशिप और कांग्रेस (Congress) की भूमिका पर सवाल भी उठाया और तंज भी कसा. पीके ने ट्वीट करके कहा कि विपक्ष में कांग्रेस की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण है, लेकिन कांग्रेस का नेतृत्व किसी एक विशेष व्यक्ति का दैवीय हक नहीं है.

    पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में टीएमसी की जीत के पीछे अहम रोल निभाने वाले प्रशांत किशोर ने कहा कि कांग्रेस पिछले दस सालों में 90 प्रतिशत से अधिक चुनाव हार चुकी है, लेकिन ऐसे नेतृत्व का चुनाव भी लोकतांत्रिक तरीके से होना चाहिए. इससे एक दिन पहले ममता बनर्जी ने भी राहुल गांधी का नाम लिए बिना उन पर निशाना साधा था.

    विपक्ष के लिए महत्वपूर्ण है कांग्रेस
    प्रशांत किशोर ने ट्वीट करके कहा, ‘कांग्रेस जिस विचार और दायरे का राजनीति में प्रतिनिधित्व करती है, वह एक मजबूत विपक्ष के लिए महत्वपूर्ण पार्टी है. लेकिन कांग्रेसी की लीडरशिप किसी एक खास विशेष व्यक्ति का दिव्य अधिकार नहीं है.ट राजनीतिक विशेषज्ञों की मानें तो विपक्ष के लीडर के तौर पर ममता बनर्जी को आगे करना प्रशांत किशोर का चुनावी दिमाग है.

    आदित्य ठाकरे से की मुलाकात

    2024 के लोकसभा चुनाव को देखते हुए तृणमूल कांग्रेस अपनी रणनीति में जुटी हुई है. सीएम ममता बनर्जी ताबड़तोड़ दौरे कर रही हैं. वह आम चुनावों से पहले बीजेपी के सामने एक मजबूत विपक्ष को तैयार करने में जुटी हुई हैं. अपनी मुंबई यात्रा के दौरान उन्होंने सीएम उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे और एनसीपी प्रमुख शरद पवार से भी मुलाकात की थी.

    यूपीए पर खड़े किए सवाल
    अपनी यात्रा के दौरान उन्होंने एक कार्यक्रम में पूछा था कि आखिर यूपीए कहां हैं. राहुल गांधी के बारे में उन्होंने इशारे से हमला करते हुए बिना नाम लिए कहा कि कुछ लोग तो आधे से ज्यादा समय विदेश में बिताते हैं. इतना ही नहीं उन्होंने सवाल पूछा कि अगर कांग्रेस पश्चिम बंगाल में चुनाव लड़ सकती है तो फिर टीएमसी गोवा और महाराष्ट्र में क्यों नहीं.

    Tags: Mamta Banerjee, Prashant Kishor

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर