एमपी के बाद बंगाल पर दावेदारी, BJP नेता मुकुल रॉय का दावा- कई TMC नेता संपर्क में

मुकुल ने दावा किया है कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी के बढ़िया प्रदर्शन के बाद अब तृणमूल कांग्रेस (TMC) नेताओं में बेचैनी है, कई टीएमसी नेता उनके संपर्क में हैं और जल्दी ही कुछ नए बदलाव देखने को मिल सकते हैं.

News18Hindi
Updated: May 25, 2019, 1:01 PM IST
एमपी के बाद बंगाल पर दावेदारी, BJP नेता मुकुल रॉय का दावा- कई TMC नेता संपर्क में
बीजेपी नेता मुकुल रॉय का दावा- टीएमसी नेता हैं संपर्क में
News18Hindi
Updated: May 25, 2019, 1:01 PM IST
मध्य प्रदेश में कई दिनों से जारी खींचतान के बाद अब पश्चिम बंगाल में भी राज्य सरकार की स्थिरता को लेकर बीजेपी नेता बयान दे रहे हैं. बीजेपी नेता मुकुल रॉय ने दावा किया है कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी के बढ़िया प्रदर्शन के बाद अब तृणमूल कांग्रेस (TMC) नेताओं में बेचैनी है. मुकुल ने दावा किया है कि कई टीएमसी नेता उनके संपर्क में हैं और जल्दी ही कुछ नए बदलाव देखने को मिल सकते हैं.

ममता ने बुलाई इमरजेंसी मीटिंग
उधर पश्चिम बंगाल लोकसभा चुनाव में बुरे प्रदर्शन के बाद ममता बनर्जी ने शनिवार को अपने आवास पर टीएमसी नेताओं की इमरजेंसी मीटिंग बुलाई है. यह बैठक दोपहर 3.30 बजे शुरू होगी. मिली जानकारी के मुताबिक इस बैठक में बीजेपी के ज़ोरदार प्रदर्शन और टीएमसी के वोट बैंक में आई कमी पर चर्चा की जाएगी.

मुकुल रॉय के बेटे भी बीजेपी में होंगे शामिल

बता दें कि निलंबित तृणमूल विधायक शुभ्रांशु रॉय ने शुक्रवार को कहा था कि वो कुछ ही दिनों में बीजेपी में शामिल होने जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि अपनी नयी पारी में अब वो खुलकर सांस ले सकेंगे. इससे पहले तृणमूल कांग्रेस ने पार्टी विरोधी बयान देने पर रॉय को छह सालों के लिए निलंबित कर दिया था. बीजापुर से टीएमसी विधायक शुभ्रांशु बीजेपी नेता मुकुल रॉय के बेटे हैं. अपने बयान में उन्होंने कहा, 'अब मैं खुलकर सांस ले पाऊंगा. टीएमसी में कइयों का दम घुट रहा है.' शुभ्रांशु ने दावा किया कि पार्टी के कई अन्य नेता भी उनके पदचिह्नों पर चलने वाले हैं.

बंगाल में क्या है विधानसभा का गणित?
मध्य प्रदेश और राजस्थान में भले ही कांग्रेस सरकार बहुमत के आंकड़े से कुछ कदम दूर हो लेकिन टीएमसी का फिलहाल बंगाल विधानसभा में एकछत्र राज है. 2016 में हुए विधानसभा चुनावों में 294 सीटों में से 211 सीटें टीएमसी ने जीती थीं. कांग्रेस के पास 44, लेफ्ट के पास 26 जबकि बीजेपी के पास विधानसभा में 3 विधायक हैं. ऐसे में इस सरकार पर संकट किसी भी फ़ॉर्मूले से नज़र नहीं आता. हालांकि मुकुल रॉय के बयान को 2021 के विधानसभा चुनावों के बारे में भी बताया जा रहा है.
ये भी पढ़ें:  

आजम खान से हारीं जया प्रदा करेंगी पार्टी में 'गद्दारी' की शिकायत

लोकसभा चुनाव परिणाम 2019: मोदी के ये सात 'ब्रह्मास्त्र', जिनके आगे ढ़ेर हुआ पूरा विपक्ष

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...