चीन का दखल! ECT डील तोड़ने के बाद श्रीलंका ने एक और कदम से चौंकाया

श्रीलंका के कदमों की वजह से संबंधो को झटका लगा है. (फाइल फोटो)

श्रीलंका के कदमों की वजह से संबंधो को झटका लगा है. (फाइल फोटो)

देश के सेंट्रल बैंक (CBSL) ने कहा है कि उसने भारत से लिए गए 400 मिलियन अमेरिकी डॉलर यानी करीब 29 सौ करोड़ रुपए वापस कर दिए हैं. बैंक की तरफ से ये भी साफ किया गया है कि इसके लिए भारत की तरफ से कोई दबाव नहीं बनाया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2021, 11:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ईस्टर्न कंटेनर टर्मिनल प्रोजेक्ट (ECT Project) से बाहर आकर भारत और जापान को झटका देने के बाद श्रीलंका ने एक और अप्रत्याशित कदम उठाया है. देश के सेंट्रल बैंक ने कहा है कि उसने भारत से लिए गए 400 मिलियन अमेरिकी डॉलर यानी करीब 29 सौ करोड़ रुपए वापस कर दिए हैं. बैंक की तरफ से ये भी साफ किया गया है कि इसके लिए भारत की तरफ से कोई दबाव नहीं बनाया गया था. दरअसल ईसीटी प्रोजेक्ट से बाहर होने के बाद श्रीलंका में कुछ खबरें छपी थीं कि भारत ने कर्जवापसी के लिए दबाव बनाया है. इसे लेकर सेंट्रल बैंक ने ट्वीट कर जानकारी दी है.

विपक्षी नेता ने कहा-सेंट्रल बैंक के पास तो पर्याप्त फंड ही नहीं

माना जा रहा है कि श्रीलंका ये सभी कदम चीन के दबाव में उठा रहा है. उधर श्रीलंका के प्रमुख अर्थशास्त्री और विपक्षी सांसद ने हर्ष डिसिल्वा ने कहा है कि श्रीलंका का फॉरेन रिजर्व गिर रहा है और उसके पास पैसे वापस करने के लिए पर्याप्त फंड नहीं है. इसके बाद भारत सरकार ने भी एक स्टेटमेंट जारी कर रहा है कि श्रीलंका द्वारा पैसा वापस किया जाना पहले से तय था.

चीन के दबाव में काम कर रहा है श्रीलंका
श्रीलंका के विदेश मंत्रालय और सेंट्रल बैंक दोनों की तरफ से स्पष्ट किया गया है कि ये एक रूटीन प्रक्रिया थी और इसका ईसीटी डील टूटने से कोई लेना देना नहीं है. गौरतलब है कि तेजी के साथ बेहतर दिशा में बढ़ते भारत और श्रीलंका के संबंधों को पिछले कुछ हफ्तों में झटका लगा है. भरोसेमंद सूत्रों के मुताबिक इस पूरे घटनाक्रम के पीछे चीन का हाथ है. अपने दो परंपरागत प्रतिद्वंद्वियों भारत और जापान को झटका देने की नियत से चीन ने श्रीलंकाई सरकार पर जबरदस्त दबाव बनाया है. इसी का नतीजा था कि श्रीलंका महत्वपूर्ण ईसीटी डील से पीछे हट गया.

(डीपी सतीश की पूरी स्टोरी यहां क्लिक कर पढ़ी जा सकती है.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज