पुलवामा अटैक के बाद 43 लड़के जैश-ए-मोहम्मद में हुए शामिल : रिपोर्ट

पुलवामा अटैक के बाद 43 लड़के जैश-ए-मोहम्मद में हुए शामिल : रिपोर्ट
सांकेतिक तस्वीर

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने पुलवामा आतंकवादी हमले की साजिश रचने और उसे अंजाम देने के मामले में एक विशेष अदालत में प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर समेत 19 लोगों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 29, 2020, 12:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पिछले साल पुलवामा हमले (Pulwama Attack) के बाद से कश्मीर के 23 युवा आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) में शामिल हुए हुए. जबकि 2018 के बाद से लापता हुए 80 से ज्यादा युवा जैश में शामिल हो चुके हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 18 महीनों में जैश का प्रभाव दक्षिण कश्मीर के इलाकों में बढ़ा है. लेकिन अच्छी बात ये है कि हाल के कुछ महीनों में सुरक्षा बल ने आतंकियों पर शिकंजा कसा है. बता दें कि पिछले साल दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के काफिले पर हुए उस हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे.

हमले की वीडियो बनाने की थी प्लानिंग
एनडीटीवी के मुताबिक जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में पिछले साल फरवरी में सीआरपीएफ के एक काफिले पर हुए आत्मघाती हमले में शामिल जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों ने हमले का वीडियो बनाने की भी प्लानिंग की थी. कहा जा रहा है कि विस्फोटक से लदी कार चला रहा आदिल अहमद डार फरवरी 2018 में ही पुलवामा में अपने गांव से लापता हो गया था. उसके पिता ने तब उसकी तलाश के लिए पुलिस में शिकायत दर्ज की थी.

19 लोगों के खिलाफ आरोप पत्र दायर
राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने पुलवामा आतंकवादी हमले की साजिश रचने और उसे अंजाम देने के मामले में एक विशेष अदालत में प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर समेत 19 लोगों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया है. एनआईए इस मामले में अब तक सात लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है. आरोप पत्र में अजहर के अलावा अलग-अलग मुठभेड़ में मारे गए सात आतंकवादियों, चार भगोड़ों का नाम शामिल है. इनमें से दो भगोड़े अब भी जम्मू-कश्मीर में छिपे हुए हैं, जिनमें एक स्थानीय निवासी और एक पाकिस्तानी नागरिक शामिल है.



ये भी पढ़ें :- चीन को सता रहा हमले का डर, लद्दाख तक पहुंचने के लिए बना रहा एक और रास्ता

200 किलो विस्फोटक से भरे वाहन से मारी थी टक्कर
जांच एजेंसी द्वारा दायर 13,500 पन्नों के इस आरोप पत्र में आत्मघाती बम हमलावर आदिल डार को शरण देने और उसका अंतिम वीडियो बनाने के लिए पुलवामा से गिरफ्तार किये गए लोगों को नामजद किया गया है. डार ने पिछले साल 14 फरवरी को दक्षिण कश्मीर के लेथपुरा के निकट लगभग 200 किलो विस्फोटक से भरे वाहन से सीआरपीएफ के काफिले को टक्कर मार दी थी. आरोप पत्र में कहा गया है कि आदिल अहमद डार विस्फोटक से लदी वह कार चला रहा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज