• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • पंजाब, राजस्थान, हरियाणा के बाद अब कर्नाटक और महाराष्ट्र ने बढ़ाई कांग्रेस की टेंशन

पंजाब, राजस्थान, हरियाणा के बाद अब कर्नाटक और महाराष्ट्र ने बढ़ाई कांग्रेस की टेंशन

पंजाब, राजस्थान और हरियाणा के बाद कर्नाटक और महाराष्ट्र में पार्टी के बीच झगड़े पर राहुल गांधी की पंचायत!

पंजाब, राजस्थान और हरियाणा के बाद कर्नाटक और महाराष्ट्र में पार्टी के बीच झगड़े पर राहुल गांधी की पंचायत!

महाराष्ट्र के नेताओं के साथ बैठक में राहुल गांधी ने एनसीपी की उस शिकायत का भी ज़िक्र किया जिसमें नाना पटोले गठबंधन धर्म के विरुद्ध बयान देते हैं. साथ ही खुद कांग्रेस में पार्टी नेताओं के नाना पटोले के मुख्यमंत्री उम्मीदवार पर दावे को लेकर असंतोष है.

  • Share this:
नई दिल्ली. पंजाब, राजस्थान और हरियाणा का झगड़ा अभी सुलझा भी नहीं कि कर्नाटक और महाराष्ट्र ने कांग्रेस नेतृत्व की टेंशन बढ़ा दी है. दोनों राज्यों में पार्टी में मचे घमासान के बीच राहुल गांधी ने इन नेताओं को दिल्ली तलब किया. महाराष्ट्र के नेता नाना पटोले और राज्य के प्रभारी एचके पाटिल ने मंगलवार को दोपहर साढ़े तीन बजे राहुल गांधी के साथ बैठक की. बैठक में राज्य में कांग्रेस संगठन में अंदरूनी खींचतान के साथ ही माह विकास आघाडी में टकराव की भी चर्चा हुई.

महाराष्ट्र के नेताओं के साथ बैठक में राहुल गांधी ने एनसीपी की उस शिकायत का भी ज़िक्र किया जिसमें नाना पटोले गठबंधन धर्म के विरुद्ध बयान देते हैं. साथ ही खुद कांग्रेस में पार्टी नेताओं के नाना पटोले के मुख्यमंत्री उम्मीदवार पर दावे को लेकर असंतोष है. अशोक चह्वाण, थोराट सहित अन्य नेता पटोले के बयानों से असहज हैं जिसकी जानकारी राहुल गांधी को प्रभारी पाटिल के ज़रिए मिली थी.

मंगलवार की बैठक में राहुल गांधी ने पटोले को पार्टी के हित से समझौता न करते हुए गठबंधन धर्म के पालन और अनावश्यक बयान न देने की ताकीद की. हालांकि राहुल गांधी ने पटोले को पार्टी को मजबूत करने के लिए हर कदम उठाने की छूट भी दी.

कर्नाटक में भी खींचतान जारी
उधर कर्नाटक में पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया और प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार के बीच रस्साकशी ज़ारी है. कर्नाटक में 2023 में विधानसभा चुनाव होने हैं और कांग्रेस की तरफ से सीएम पद का चेहरा कौन होगा इसको लेकर गुटबाज़ी चरम पर है. पार्टी सूत्रों के मुताबिक सिद्धारमैया ने तो राज्य के तटवर्ती इलाकों के दौरों में सीएम बनने पर उनके लिए क्या योजना लाएंगे, की घोषणा करना भी शुरू कर दिया था. इस बात की शिकायत शिवकुमार खेमे ने आलाकमान से की थी. उधर खुद डीके के समर्थक भी उनको राज्य के अगले मुख्यमंत्री के रूप में प्रोजेक्ट करने लगे हैं, उनका तर्क है कि अध्यक्ष पार्टी का चेहरा होता है. ये बात सिद्धरमैया खेमे ने नेतृत्व तक पहुंचा दी. इसी बात को लेकर राहुल गांधी ने दोनों नेताओं को दिल्ली बुलाया और चर्चा की.

सूत्रों के मुताबिक दोनों पक्षों को सुनने के बाद राहुल गांधी ने कहा कि चुनाव में सीएम तभी बनेगा जब हम चुनाव जीतेंगे. राहुल गांधी ने दोनों नेताओं को मिलकर राज्य में अगली सरकार कांग्रेस की बनाने के लिए काम करने को कहा. राहुल गांधी ने कहा कि राज्य में नेतृत्व का चेहरा सही समय पर पार्टी राज्य के नेताओं से सलाह के बाद करेगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज