होम /न्यूज /राष्ट्र /

वुहान से लौटने के बाद ITBP शिविर में रखे गए 200 भारतीयों को मिली छु्ट्टी, हर्षवर्धन ने की मुलाकात

वुहान से लौटने के बाद ITBP शिविर में रखे गए 200 भारतीयों को मिली छु्ट्टी, हर्षवर्धन ने की मुलाकात

शिविर में रखे लोगों में 7 लोग मालदीव के भी शामिल हैं.

शिविर में रखे लोगों में 7 लोग मालदीव के भी शामिल हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने विज्ञप्ति में कहा, ‘‘हर्षवर्धन (Harsh Vardhan) ने आईटीबीपी के शिविर (ITBP Camp) में रखे गए उन लोगों से बात की जिन्हें वुहान (Wuhan) से निकालकर लाया गया है. इनमें से अधिकतर को घर जाने के लिए छुट्टी दी जा रही है.’’

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन (Union Health Minister Harsh Vardhan) ने सोमवार को यहां आईटीबीपी (ITBP) के एक केंद्र में उन भारतीयों से मुलाकात की जिन्हें चीन के कोरोना वायरस (Corona Virus) प्रभावित वुहान शहर (Wuhan City) से लाकर पृथक रखा गया है. इनमें से करीब 200 लोगों को छुट्टी मिल गयी है.

    स्वास्थ्य मंत्रालय ने विज्ञप्ति में कहा, ‘‘हर्षवर्धन (Harsh Vardhan) ने आईटीबीपी के शिविर (ITBP Camp) में रखे गए उन लोगों से बात की जिन्हें वुहान से निकालकर लाया गया है. इनमें से अधिकतर को घर जाने के लिए छुट्टी दी जा रही है.’’

    चरणबद्ध तरीके से घर भेजे जाएंगे कैंप में रखे गए लोग
    इसमें बताया गया कि इन सभी लोगों में कोरोना वायरस (कोविड 19- Covid 19) के होने की पुष्टि नहीं हुई है और वे चरणबद्ध तरीके (Phased Manner) से घर जाएंगे.

    हर्षवर्धन ने कहा, ‘‘यह हम सभी के लिए गौरव और संतोष का क्षण है कि वुहान से लौटे हमारे नागरिक (Citizens) स्वस्थ पाए गए हैं.’’ स्वास्थ्य मंत्री ने शिविर छोड़कर जाने वालों को गुलाब भेंट किए. उन्होंने वायरस से निपटने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदमों और इस संदर्भ में बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में लोगों को बताया.

    कैंप में मौजूद सभी 406 लोगों की रिपोर्ट्स आई हैं निगेटिव
    आईटीबीपी के इस केंद्र में कुल 406 लोगों को रखा गया जिनमें मालदीव के सात नागरिक भी शामिल हैं जिन्हें एअर इंडिया (Air India) के विमान से वुहान से लाया गया था.

    आईटीबीपी के प्रवक्ता (ITBP Spokesperson) विवेक कुमार पांडेय ने कहा, ‘‘कोरोना वायरस के अंतिम परीक्षण के बाद हमारे केंद्र में रुके सभी 406 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव पाई गयी है. इसके बाद पहले समूह को आज छुट्टी दे दी गयी. हमें आज रात तक करीब 200 लोगों के जाने की उम्मीद है. बाकी को मंगलवार को या उसके बाद के दिनों में भेजा जाएगा.’’

    केरल के दो कोरोना संक्रमित मरीजों को दी गई छुट्टी, तीसरे की हालत स्थिर
    हर्षवर्धन ने सूचित किया कि आज की तारीख तक 2996 उड़ानों के 3,21,375 यात्रियों और 125 जहाजों के 6,387 यात्रियों की संदिग्ध संक्रमण (Suspected Infection) की जांच के लिए स्क्रीनिंग की जा चुकी है.

    भारत में अभी तक कोरोना वायरस के तीन मामलों की पुष्टि हुई है जो सभी केरल से हैं. स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि इन तीन मेडिकल छात्रों (Medical Students) में से दो को छुट्टी दे दी गयी है. तीसरे की हालत स्थिर है.

    चीन से कुल 650 भारतीयों को लाया गया था वापस
    भारत तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) के संबंधित शिविर के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बल उन लोगों को अधिकृत वाहन की सुविधा भी प्रदान कर रहा है जो हवाईअड्डे, रेलवे स्टेशन या बस अड्डे जाना चाहते हैं. यह सुविधा उन्हें भी दी जा रही है जो राष्ट्रीय राजधानी के निवासी हैं या जिनका कोई रिश्तेदार यहां है.

    चीन में कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते एक और दो फरवरी को एअर इंडिया के दो 747 बोइंग विमानों (747 Boeing Planes) से कुल 650 लोगों को भारत लाया गया था.

    इनमें से 406 को आईटीबीपी के शिविर में और शेष अन्य को हरियाणा (Haryana) के मानेसर में सेना के एक केंद्र में पृथक कर रखा गया था.

    यह भी पढ़ें: PM ने वुहान से भारतीयों को लाने वाले चालक दल-मेडिकल टीम को दिया प्रशस्तिपत्रundefined

    Tags: Corona Virus, Harsh Vardhan, Haryana news, Health ministry, ITBP, Maldives

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर