लाइव टीवी

'टुकड़े-टुकड़े गैंग' के बाद अब गृह मंत्रालय ने बताया- केरल में लव जिहाद का कोई केस नहीं

News18Hindi
Updated: February 4, 2020, 5:28 PM IST
'टुकड़े-टुकड़े गैंग' के बाद अब गृह मंत्रालय ने बताया- केरल में लव जिहाद का कोई केस नहीं
गृह मंत्रालय की ओर से एक सवाल के लिखित जवाब में यह जानकारी दी गई.

कुछ ही दिन पहले गृह मंत्रालय (Ministry of Home Affairs) एक आरटीआई के जवाब में कहा था कि उसे 'टुकड़े-टुकड़े गैंग' (Tukde-Tukde Gang) को लेकर कोई जानकारी नहीं है. बता दें बीजेपी के कई नेताओं ने विरोधियों पर हमला बोलने के लिए 'टुकड़े-टुकड़े गैंग' शब्द का इस्तेमाल किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 4, 2020, 5:28 PM IST
  • Share this:
(रौनक कुमार गुंजन)

नई दिल्ली.  गृह मंत्रालय (Home Minister) ने एक लिखित जवाब में लोकसभा को बताया कि लव जिहाद को मौजूदा कानून के तहत परिभाषित नहीं किया गया है और किसी केंद्रीय एजेंसी द्वारा ऐसे मामलों की सूचना नहीं दी गई है. मंत्रालय ने इस सवाल ये जवाब में यह बात कही जिसमें पूछा गया था कि क्या केंद्र सरकार (Central Government) केरल हाईकोर्ट (Kerala High Court) की इस टिप्पणी से अवगत है कि केरल (Kerala) में लव जिहाद (Love Jihad) का कोई मामला नहीं है,

मंत्रालय ने अपने जवाब में कहा कि किसी मौजूदा कानून के तहत लव जिहाद को परिभाषित नहीं किया गया है. किसी भी केंद्रीय एजेंसी को लव जिहाद से जुड़े मामले की जानकारी नहीं मिली है. हालांकि, केरल में दो अंतर्जातीय विवाह के मामले सामने आए थे जिनकी जांच एनआईए (NIA) द्वारा की गई है.

हादिया का मामला आया था सामने

केरल में 'लव जिहाद' के कई संदिग्ध मामले सामने आए, जिनमें हादिया मामला उनके बीच सबसे चर्चा में रहा था. शुरू में, यह कथित तौर पर, 'लव जिहाद' का मामला था, लेकिन बाद में सर्वोच्च न्यायालय के फैसले से साफ हुआ कि यह लव जिहाद का केस नहीं था.

जनवरी 2020 में केरल के एक प्रभावशाली कैथोलिक चर्च मे कहा था कि 'लव जिहाद एक सच्चाई है.' साथ ही यह आरोप लगाया था कि दक्षिणी राज्य की ईसाई समुदाय की ज्यादातर महिलाओं को इस्लामिक स्टेट के जाल में फंसाया गया और आतंकी गतिविधियों में इस्तेमाल किया गया.

विश्व हिंदू परिषद (Vishwa Hindu Parishad) ने चर्च के इस स्टेटमेंट का स्वागत किया और लव जिहाद के लिए केरल समाज को एक साथ खड़े होने का आह्वान किया.'टुकड़े-टुकड़े गैंग' को लेकर मंत्रालय ने कही थी ये बात
इससे कुछ ही दिन पहले गृह मंत्रालय एक आरटीआई के जवाब में कहा था कि उसे 'टुकड़े-टुकड़े गैंग' को लेकर कोई जानकारी नहीं है. बता दें बीजेपी के कई नेताओं ने विरोधियों पर हमला बोलने के लिए 'टुकड़े-टुकड़े गैंग' शब्द का इस्तेमाल किया है.

ये आरटीआई एक एक्टिविस्ट साकेत गोखले ने पिछले साल 26 दिसंबर को फाइल की थी. अपनी आरटीआई एप्लीकेशन में साकेत गोखले ने कहा था कि गृह मंत्री अमित शाह ने नई दिल्ली में एक सार्वजनिक कार्यक्रम में कहा था कि "दिल्ली के 'टुकड़े-टुकड़े गैंग' को सबक सिखाना होगा और उन्हें सज़ा देनी होगी." गोखले ने आरटीआई में 'टुकड़े-टुकड़े गैंग' को लेकर जानकारी मांगी थी.

गृह मंत्रालय ने साकेत गोखले की आरटीआई एप्लीकेशन के जवाब में कहा था कि गृह मंत्रालय को 'टुकड़े-टुकड़े गैंग' के संबंध में कोई जानकारी नहीं है.

ये भी पढ़ें-
NPR पर गृह मंत्रालय का बड़ा बयान- किसी से नहीं मांगे जाएंगे दस्तावेज

मोदी को SIT क्लीन चिट के खिलाफ जाफरी की याचिका पर 14 अप्रैल को होगी सुनवाई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 5:28 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर