एयर स्ट्राइक के बाद जैश ने बदला ठिकाना, अफगानिस्तान में आतंकी कैंप किया शिफ्ट

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर जैश के आत्मघाती हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक की थी

News18Hindi
Updated: July 7, 2019, 11:32 AM IST
एयर स्ट्राइक के बाद जैश ने बदला ठिकाना, अफगानिस्तान में आतंकी कैंप किया शिफ्ट
एयर स्ट्राइक के बाद जैश ने अफगानिस्तान में कैंप किया शिफ्ट
News18Hindi
Updated: July 7, 2019, 11:32 AM IST
भारतीय वायु सेना की ओर से पाकिस्तान के बालाकोट में की गई एयर स्ट्राइक के बाद आतंकी समूह जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा के बेस कैंप को पाकिस्तान से शिफ्ट कर दिया है. खुफिया जानकारी के मुताबिक आतंकियों ने अपना नया बेस कैंप अफगानिस्तान के कुनार, नंगरहार, नूरिस्तान और कंधार में शिफ्ट किए गए हैं. अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के मुताबिक भारत की ओर से की गई एयरस्ट्राइक से पाकिस्तान इस कदर डर गया है कि उसने अपने सभी आतंकी संगठन अफगानिस्तान में शिफ्ट कर दिए हैं.

गौरतलब है कि 14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर जैश के आत्मघाती हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक की थी. भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में बने आतंकी कैंप को ध्वस्त कर दिया था. इस एयरस्ट्राइक में काफी संख्या में आतंकियों के मारे जाने की सूचना है.

इसे भी पढ़ें :- वायुसेना ने ऑपरेशन बंदर से पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी कैंप में मचाई थी तबाही

अंग्रेजी अखबार को मिले दस्तावेजों के मुताबिक पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठनों ने अफगान तालिबान और अफगान विद्रोही समूह, हक्कानी नेटवर्क के साथ हाथ मिला लिया है. रिपोर्ट में बताया गया है कि पाकिस्तानी आतंकियों को अफगानिस्तान बॉर्डर पर स्थित डुरंड रेखा पर ट्रेनिंग दी जा रही है. पाकिस्तान को भारत और दुनियाभर से आतंकियों पर कार्रवाई करने का दबाव बनाया जा रहा है. मोदी सरकार ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को 15 से अधिक जैश नेताओं और आतंकवादी फंडिंग से जुड़े पांच चैरिटी संगठनों पर कार्रवाई करने को कहा गया है. भारत ने पाकिस्तान को आगाह किया है कि इस बार भी पहले की तरह किसी भी तरह का दिखावा नहीं होना चाहिए.

इसे भी पढ़ें :- भारतीय वायुसेना ने बताया- बालाकोट से पहले भी पाकिस्तान के खिलाफ की थी एयर स्ट्राइक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 7, 2019, 11:14 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...