Home /News /nation /

कांग्रेस का केंद्र पर आरोप- चुनाव के बाद पिछले दरवाजे से कृषि कानूनों को वापस लाने की साजिश कर रही सरकार

कांग्रेस का केंद्र पर आरोप- चुनाव के बाद पिछले दरवाजे से कृषि कानूनों को वापस लाने की साजिश कर रही सरकार

सुरजेवाला ने कहा, ‘‘सरकार सिर्फ इसलिए झुकी क्योंकि उनकी हार उत्तराखंड, पंजाब और उत्तर प्रदेश में साफ दिखाई दे रही थी.(फाइल फोटो)

सुरजेवाला ने कहा, ‘‘सरकार सिर्फ इसलिए झुकी क्योंकि उनकी हार उत्तराखंड, पंजाब और उत्तर प्रदेश में साफ दिखाई दे रही थी.(फाइल फोटो)

Congress,Agricultural Laws, Kisan Andolan: कृषि मंत्री की टिप्पणी के बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि तोमर ने पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कहने पर अपना बयान दिया था. उन्होंने कहा, ‘‘इस देश के किसानों और खेतिहर मजदूरों के खिलाफ तीन काले कानूनों को निरस्त करने के लिए 380 से अधिक दिनों के आंदोलन ने सरकार को झुकाया था और 700 किसानों ने बलिदान दिया.’’

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: कांग्रेस ने रविवार को अपने आरोप को दोहराया कि केंद्र विधानसभा चुनावों (Assembly Elections) के अगले दौर के बाद तीन कृषि कानूनों (Agriculture Law) को ‘‘पिछले दरवाजे’’ से वापस लाने की ‘‘साजिश’’ कर रहा है और लोगों से चुनाव में हराकर सरकार को सबक सिखाने का आग्रह किया.

    कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने रविवार को स्पष्ट किया कि सरकार की हाल में निरस्त किए गए कृषि कानूनों (Krishi Kanoon) को वापस लाने की कोई योजना नहीं है और उन्होंने किसानों से इस मुद्दे पर कांग्रेस द्वारा पैदा किए जा रहे ‘‘भ्रम’’ से सावधान रहने का आग्रह किया.

    मंत्री ने यह भी कहा कि महाराष्ट्र के नागपुर में एक कृषि कार्यक्रम में दिए संबोधन के दौरान इस मुद्दे पर उनकी टिप्पणियों को गलत समझा गया और उनकी मंशा वह नहीं थी, जो दिखाया जा रहा है. तोमर ने कहा, ‘‘कार्यक्रम में मैंने कहा था कि हमने कृषि कानूनों पर एक कदम पीछे लिया है लेकिन सरकार किसानों की भलाई की दिशा में काम करने के लिए हमेशा आगे बढ़ती रहेगी. अत: इस मुद्दे पर कोई गलतफहमी नहीं होनी चाहिए और सरकार का कृषि कानूनों को फिर से लाने का कोई इरादा नहीं है.’’

    कृषि मंत्री की टिप्पणी के बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि तोमर ने पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कहने पर अपना बयान दिया था. उन्होंने कहा, ‘‘इस देश के किसानों और खेतिहर मजदूरों के खिलाफ तीन काले कानूनों को निरस्त करने के लिए 380 से अधिक दिनों के आंदोलन ने सरकार को झुकाया था और 700 किसानों ने बलिदान दिया.’’

    सुरजेवाला ने कहा, ‘‘सरकार सिर्फ इसलिए झुकी क्योंकि उनकी हार उत्तराखंड, पंजाब और उत्तर प्रदेश में साफ दिखाई दे रही थी. पांच राज्यों में चुनाव के बाद वे इस कानून को पिछले दरवाजे से वापस लाएंगे.’’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘इसलिए हमने कल कहा था कि भाजपा की हार में मजदूरों और किसानों की जीत है. इन पांच राज्यों में भाजपा को हरा दें, ताकि वे दोबारा ऐसा काला कानून लाने की हिम्मत नहीं कर सकें.’’

    Tags: Agricultural Law, Congress, Krishi kanoon

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर