पूर्व राज्यपाल तथागत रॉय ने बंगाल में KDSA पर उठाए सवाल, कहा- तृणमूल के कचरे को BJP में दी जगह

पूर्व राज्यपाल तथागत रॉय ने बंगाल में बीजेपी की हार का कारण बताया.

पूर्व राज्यपाल तथागत रॉय ने बंगाल में बीजेपी की हार का कारण बताया.

तथागत रॉय ने कहा है कि 'कैलाश-दिलीप-शिव-अरविंद (केडीएसए) ने बंगाल में दिल से काम करने वाले कार्यकर्ताओं का अपमान किया है. इन चारों नेताओं ने प्रधानमंत्री और गृहमंत्री का नाम कीचड़ में मिला दिया है.'

  • Share this:

कोलकाता. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Begnal Assembly Election) में तृणमूल कांग्रेस के हाथ बीजेपी (BJP) को मिली करारी हार के बाद से प्रदेश नेतृत्व में तकरार छिड़ गई है. पार्टी के वरिष्ठ नेता और मेघालय तथा त्रिपुरा के पूर्व राज्यपाल तथागत रॉय (Tathagat Roy) ने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष (Dilip Ghosh), शिव प्रकाश, अरविंद मेनन और प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijyavargiya) सहित बीजेपी के अन्य नेतृत्व के फैसले पर सवाल उठाया है.

तथागत रॉय ने ट्वीट करते हुए कहा, 'पश्चिम बंगाल में जिस तरह से बीजेपी की हार हुई है उसे देखते हुए अगर पार्टी में बड़े बदलाव नहीं किए गए तो जो कार्यकर्ता जमीनी स्‍तर पर पार्टी को मजबूत करने के लिए काम कर रहे हैं वो भी पार्टी का साथ छोड़ देंगे और ये पश्चिम बंगाल में पार्टी का अंत होगा.' उन्‍होंने कहा कि मैं इस हार के लिए केंद्र सरकार को दोष नहीं देता.

West Bengal, Trinamool Congress, Tathagata Roy, Dilip Ghosh, BJP, Kailash Vijayvargiya

1.3 अरब वाले देश में केंद्रीय नेतृत्व जो भी आदेश देता है उसे राज्य में मौजूद नेता ही आगे बढ़ाते हैं लेकिन यहां ऐसा नहीं है. बंगाल में मौजूद पार्टी के नेताओं को कुछ पता ही नहीं है. अब मैं आपको राज्‍य में बीजेपी के पिछड़ने के दो कारण बता रहा हूं. पहला तृणमूल से आया हुआ कचरा जिसने बीजेपी का दामन थामा.
West Bengal, Trinamool Congress, Tathagata Roy, Dilip Ghosh, BJP, Kailash Vijayvargiya

जो कार्यकर्ता 1980 से पार्टी के लिए लगातार काम कर रहे हैं उन्‍हें तृणमूल के हाथों उत्‍पीड़न झेलना पड़ रहा है. लेकिन केडीएसए उनके बचाव में नहीं गए, उन्हें वापस लड़ने के लिए प्रेरित भी नहीं किया. इसके बजाय वे तृणमूल से आने वाले कचरे के टिकट बांटने और 7-सितारा होटलों से आराम फरमाने की कोशिश करते रहे. अब पार्टी कार्यकर्ताओं को उत्‍पीड़न का सामना करना पड़ रहा है. वे उम्मीद कर रहे हैं कि बंगाल में तूफान शांत हो जाएगा.

Youtube Video



इसे भी पढ़ें :- मुस्लिम, मतुआ, महिला और ममता- बंगाल चुनाव में टीएमसी के शानदार प्रदर्शन के ये हैं अहम फैक्टर

तथागत रॉय ने कहा है कि 'कैलाश-दिलीप-शिव-अरविंद (केडीएसए) ने बंगाल में दिल से काम करने वाले कार्यकर्ताओं का अपमान किया है. इन चारों नेताओं ने प्रधानमंत्री और गृहमंत्री का नाम कीचड़ में मिला दिया है'

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज