Yaas Cyclone Updates: बंगाल और ओडिशा में तबाही मचाने के बाद बिहार और झारखंड की ओर बढ़ा 'यास' तूफान

बिहार और झारखंड की ओर बढ़ा यास तूफान.

बिहार और झारखंड की ओर बढ़ा यास तूफान.

पश्चिम बंगाल (West Bengal) और ओडिशा (Odisha) में तबाही मचाने के बाद यास तूफान ने बुधवार रात एक बजे पश्चिमी सिंहभूम से झारखंड (Jharkhand) में प्रवेश किया. इस दौरान हवा की रफ्तार 60 किलोमीटर प्रति घंटा रही.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र के कारण खतरनाक हुए चक्रवाती तूफान 'यास' (Yaas Cyclone) पश्चिम बंगाल (West Bengal) और ओडिशा (Odisha) में तबाही मचाने के बाद अब आगे बढ़ गया है. चक्रवाती तूफान 'यास' के चलते 20 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं. बारिश के कारण बंगाल में काफी घर टूट गए है और दोनों ही राज्‍यों में 4 लोगों की मौत हो गई है.

चक्रवाती तूफान 'यास' से सबसे ज्‍यादा पूर्व मेदिनीपुर जिले के इलाके प्रभावित दिखाई दे रहे हैं. पूर्व मेदिनीपुर जिले के दीघा, शंकरपुर, मंदारमनी दक्षिण 24 परगना जिले के बाद बकखाली, संदेशखाली, सागर, फ्रेजरगंज, सुंदरबन आदि जगहों से लेकर पूरे बंगाल में 3 लाख लोगों के घर इस तूफान से उजड़ गए हैं. यास चक्रवात की ताकत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 130 से अधिक बांध टूट गए हैं, जिससे राहत कार्यों में बाधा पैदा हो रही है.


बंगाल और ओडिशा में तबाही मचाने के बाद यास तूफान ने बुधवार रात एक बजे पश्चिमी सिंहभूम से झारखंड में प्रवेश किया. इस दौरान हवा की रफ्तार 60 किलोमीटर प्रति घंटा रही. तूफान का असर अभी भी राज्‍य में देखा जा रहा है कि झारखंड के 21 जिलों में पिछले 24 घंटे से लगातार बारिश हो रही है. जमशेदपुर और धनबाद में तेज हवाएं चलने से कई पेड़ और बिजली के खंभे गिर गए, जिसके कारण 200 से अधिक गांवों में अभी भी अंधेरा छाया हुआ है.
इसे भी पढ़ें :-  Cyclone Yaas News: चक्रवाती तूफान यास के कारण झारखंड में भारी बारिश, रांची में बने बाढ़ जैसे हालात

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने 28 मई तक पूरे राज्य में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. बता दें कि तूफान गुरुवार सुबह 5.30 बजे दक्षिणी झारखंड पहुंचकर कमजोर पड़ गया है और डीप डिप्रेशन में तब्दील होना शुरू हो गया. तूफान के कारण बिहार के 26 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है.




इसे भी पढ़ें :- 'यास' का झारखंड में हुई एंट्री, 12 घंटों में कमजोर होगा तूफान; 10 पॉइंट्स में जानें ताजा हाल

सरकार ने जारी किया अलर्ट

चक्रवात के मद्देनजर राज्य में लोगों को अगले चौबीस घंटे घरों में ही रहने को कहा गया है और कोल्हान प्रमंडल के पूर्वी सिंहभूम, सरायकेला, पश्चिमी सिंहभूम, बोकारो के अलावा खूंटी एवं पश्चिमी सिंहभूम जिलों में निचले क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का काम लगातार जारी है. अब तक दस हजार से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचा दिया गया है. झारखंड के आपदा प्रबंधन विभाग के सचिव डॉ. अमिताभ कौशल ने बताया कि बंगाल की खाड़ी से उठा चक्रवाती तूफान यास बुधवार रात लगभग साढ़े आठ बजे झारखंड की सीमा में प्रवेश कर गया और उसके बाद से लगातार बारिश हो रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज