अस्तित्व से जूझ रही कांग्रेस, सिर्फ पांच राज्यों-केंद्रशासित प्रदेशों में ही बची सरकार

मंगलवार को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के हाथ से एक और राज्य चला गया. अब सिर्फ चार राज्यों और एक केंद्रशासित प्रदेश में ही उसकी सरकारें बची हैं.

भाषा
Updated: July 24, 2019, 12:21 AM IST
अस्तित्व से जूझ रही कांग्रेस, सिर्फ पांच राज्यों-केंद्रशासित प्रदेशों में ही बची सरकार
मंगलवार को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के हाथ से एक और राज्य चला गया. अब सिर्फ चार राज्यों और एक केंद्रशासित प्रदेश में ही उसकी सरकारें बची हैं.
भाषा
Updated: July 24, 2019, 12:21 AM IST
कर्नाटक विधानसभा में एचडी कुमारस्वामी के नेतृत्व सरकार का विश्वास प्रस्ताव गिरने के साथ ही मंगलवार को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के हाथ से एक और राज्य चला गया. अब सिर्फ चार राज्यों और एक केंद्रशासित प्रदेश में ही उसकी सरकारें बची हैं.

कांग्रेस अब पंजाब, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान और पुडुचेरी में सत्ता में है. कर्नाटक में गठबंधन सरकार गिरने साथ ही दक्षिण भारत में कांग्रेस किसी भी राज्य में सत्ता में नहीं रह गई है, हालांकि केंद्रशासित पुडुचेरी में जरूर उसकी सरकार है.

पिछले साल कर्नाटक में जनता दल (सेक्युलर) के साथ मिलकर सरकार बनाते हुए कांग्रेस ने राज्य में अपनी सत्ता बरकरार रखी थी. इसके कुछ महीने बाद ही वह मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान जैसे हिंदीभाषी क्षेत्र के तीन महत्वपूर्ण राज्यों में सरकार बनाने में सफल रही थी.

लोकसभा की हार के बाद एक और झटका

इस साल के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को 2014 के आम चुनाव की तरह एक बार फिर करारी हार का सामना करना पड़ा. इसके करीब दो महीने बाद ही कर्नाटक में सरकार का गिरना पार्टी के लिए बहुत बड़ा झटका माना जा रहा है.



लोकसभा चुनाव नतीजों के ठीक 2 महीने बाद कर्नाटक में कांग्रेस और विपक्ष को बड़ा झटका लगा. कर्नाटक की जनता दल (सेक्युलर)-कांग्रेस सरकार विधानसभा में विश्वास मत हासिल नहीं कर सकी. कुमारस्वामी सरकार को विश्वास मत के दौरान 99 विधायकों का समर्थन मिला जबकि 105 विधायक ने विरोध में वोट किया.
Loading...

देशभर में प्रदर्शन करेगी कांग्रेस
कांग्रेस ने कर्नाटक की घटना को लेकर बीजेपी के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन करने का फैसला किया है. कांग्रेस के कर्नाटक के प्रभारी महासचिव केसी वेणुगोपाल ने विश्वास मत में हार के बाद बीजेपी के खिलाफ देशव्यापी प्रदर्शन का ऐलान किया है.

बता दें कांग्रेस पार्टी में भी लोकसभा चुनावों में मिली करारी हार की जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी के अध्यक्ष पद से इस्तीफे के बाद से पार्टी आलाकमान की ओर से स्थिति साफ नहीं हो पाई है. तमाम अटकलों के बावजूद भी अभी तक पार्टी अध्यक्ष पद के लिए किसी भी नाम पर सहमति नहीं बन सकी है.

उधर, भाजपा और उसके सहयोगी दल इस वक्त देश के कुल 16 राज्यों में सत्तासीन हैं, जिनमें राजनीतिक रूप से बेहद अहम उत्तर प्रदेश और बिहार भी शामिल हैं. कर्नाटक में सरकार बनाने की स्थिति में पार्टी सहयोगी दलों के साथ कुल 17 राज्यों में सत्तासीन हो जाएगी.

ये भी पढ़ें-
कर्नाटक: BJP की राह मुश्किल, कांग्रेस-JDS गठबंधन पर संकट

केवल 14 महीने 'स्‍वामी' रहे कुमार, अब दावा पेश करेगी BJP
First published: July 23, 2019, 11:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...