भारत-चीन हिंसक झड़प के बाद अगले हफ्ते इस मंच पर जयशंकर के सामने होंगे चीनी विदेश मंत्री

भारत-चीन हिंसक झड़प के बाद अगले हफ्ते इस मंच पर जयशंकर के सामने होंगे चीनी विदेश मंत्री
अगले हफ्ते भारत और चीन के विदेश मंत्री आमने-सामने होंगे (फाइल फोटो)

तीनों देशों के विदेश मंत्री (Foreign Minister) यहां पर अंतरराष्ट्रीय राजनीति, अर्थव्यवस्था (Economy) और कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) के बाद के दौर में अन्य विषयों के बारे में चर्चा करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 18, 2020, 12:47 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत में रूस (Russia) के राजदूत निकोले कुदाशेव (Nikolay Kudashev) ने कहा है, "वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर तनातनी कम करने के लिए, दो विदेश मंत्रियों (Foreign Minister) के बीच बातचीत सहित अन्य कदमों का हम स्वागत करते हैं, और आशावादी बने हुए हैं."

उन्होंने यह भी कहा कि RIC (रूस-इंडिया-चीन) का अस्तित्व एक निर्विवाद वास्तविकता है, जो विश्व मानचित्र (world map) पर दृढ़ता के साथ मौजूद है. त्रिपक्षीय सहयोग (trilateral cooperation) के वर्तमान चरण के लिए, ऐसा कोई संकेत नहीं है कि ये जड़ हो सकते हैं.





RIC की मीटिंग में एस जयशंकर के सामने होंगे चीन के विदेश मंत्री
वहीं रूस के विदेश मंत्रालय ने जानकारी दी है कि RIC के चेयरमैन के तौर पर रूस की नियुक्ति को लेकर 23 जून को रूस, भारत और चीन के विदेश मंत्रियों की मुलाकात होने वाली है. ये मंत्री यहां पर अंतरराष्ट्रीय राजनीति, अर्थव्यवस्था और कोविड-19 महामारी के बाद के दौर में अन्य विषयों के बारे में चर्चा करेंगे.



द्वितीय विश्व युद्ध में विजय की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर भारतीय सैन्य दस्ता जाएगा मास्को
वहीं भारत के रक्षा मंत्रालय (Ministry of Defence) की ओर से कहा गया है कि द्वितीय विश्व युद्ध में रूस की विजय की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर मास्को में 24 जून को आयोजित होने वाली ‘विक्ट्री डे’ परेड (Victory Day Parade) में भाग लेने के लिए भारत अपना दस्ता भेजेगा जिसमें सशस्त्र सेनाओं के तीनों अंगों के 75 सैन्य कर्मी शामिल होंगे.

रक्षा मंत्रालय ने बुधवार को यह जानकारी दी. मंत्रालय की ओर से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया, “द्वितीय विश्व युद्ध में विजय की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर रूसी और अन्य मित्र देशों के सैनिकों के शौर्य और बलिदान के सम्मान में मास्को में एक सैन्य परेड का आयोजन किया जाएगा.”

रूसी रक्षा मंत्री ने 24 जून को मास्को में आयोजित होने वाली विक्ट्री डे परेड के लिए भेजा निमंत्रण
विज्ञप्ति में कहा गया कि रूसी रक्षा मंत्री (Russian Defence Minister) ने 24 जून को मास्को में आयोजित होने वाली विक्ट्री डे परेड में भाग लेने के लिए भारतीय दस्ते को निमंत्रण भेजा है.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने परेड में भाग लेने के लिए 75 सदस्यीय दस्ते को भेजने की अनुमति दी है जिसमें सशस्त्र सेनाओं के तीनों अंगों के सैनिक शामिल होंगे. विज्ञप्ति के अनुसार, परेड में अन्य देशों के सैन्य दस्ते भी भाग लेंगे.



यह भी पढ़ें: चीन के साथ संघर्ष के लिए तैयार रहे भारत,1962 जैसी स्थिति नहीं- पूर्व आर्मी चीफ
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading