लॉकडाउन खुलने के बाद संक्रमण मिलने पर सील नहीं होंगे दफ्तर, इमारत होगी सेनेटाइज

लॉकडाउन खुलने के बाद संक्रमण मिलने पर सील नहीं होंगे दफ्तर, इमारत होगी सेनेटाइज
देश में कोरोना वायरस से अब तक 1007 लोगों की मौत हो गई है.

जिस किसी कार्यालय में अगर कोरोना संदिग्ध मिलता है उसे लंबे समय तक बंद करने की आवश्यकता नहीं रहेगी बल्कि संक्रमित कार्यालय को सैनेटाइज करने के 12 घंटों के बाद एक बार फिर खोल दिया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 29, 2020, 1:24 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से बचने के लिए तीन मई तक लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा की गई है. इस दौरान सभी ऑफिस (Office) बंद चल रहे हैं. लॉकडाउन के दूसरे चरण में सरकारी कार्यालय (Government office) को कुछ शर्तों के साथ खोलने की छूट दी गई थी. सरकार ने अब लॉकडाउन के बाद फिर से खुलने वाले कार्यालयों को लेकर नई जानकारी दी है. सरकार की ओर से साफ किया गया है कि लॉकडाउन खुलने के बाद अगर किसी ऑफिस में कोविड-19 का कोई मामला सामने आता है तो उस ऑफिस को पूरी तरह से सील नहीं किया जाएगा. सरकार ने ये फैसला एक बार फिर अर्थव्यवस्था (Economy) को पटरी पर लाने के लिए लिया है.

ईटी की खबर के मुताबि​क अगर किसी ऑफिस में कोरोना वायर से संक्रमित कोई मरीज पाया जाता है तो कार्यालय की इमारत को सील नहीं किया जाएगा बल्कि पूरी क्षेत्र को सेनेटाइज किया जाएगा. सरकार ने कहा है कि ​जिलाधिकारी स्वास्थ्य विशेषज्ञों की सलाह पर ही सारे काम करेंगे. स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद अब पूल परीक्षण जैसे रोकथाम और अन्य उपायों पर विचार कर रहे हैं.

बताया जा रहा है कि जिस किसी कार्यालय में अगर कोरोना संदिग्ध मिलता है उसे लंबे समय तक बंद करने की आवश्यकता नहीं रहेगी बल्कि संक्रमित कार्यालय को सैनेटाइज करने के 12 घंटों के बाद एक बार फिर खोल दिया जाएगा. पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन ऑफ इंडिया (PHFI) के अध्यक्ष के. श्रीनाथ रेड्डी ने कहा कि हमलोग एंटीजन किट्स की उपलब्धता देख रहे हैं ताकि हमलोग पूल टेस्टसिंग कर सकें.



इसे भी पढ़ें :- सीरम इंस्टीट्यूट के CEO का दावा, ट्रायल सही रहा तो सितं​बर तक आ जाएगी कोरोना वैक्सीन
कर्मचारियों को रखना होगा सोशल डिस्टेंसिंग का खास ध्यान
लॉकडाउन खुलने के बाद कार्यालय जाने वाले कर्मचारियों के लिए भी खास गाइड लाइन तैयार की जा रही है. अभी भी जो ऑफिस खुले हुए हैं उनके कर्मचारियों को सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखने को कहा गया है. इसके साथ ही अपने आसपास साफ सफाई का भी ध्यान रखने को कहा गया है. अगर कोई कर्मचारी अस्वस्थ महसूस कर रहा है तो उसे तुरंत ऑफिस छोड़ना होगा. स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) के मुताबिक 55 साल से अधिक और गर्भवती महिलाओं को घर से ही काम करने की सलाह दी गई है.

इसे भी पढ़ें : -
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading