लाइव टीवी

अनुच्‍छेद-370 हटाने के बाद जम्‍मू-कश्‍मीर में सुरक्षाबलों के जवानों की शहादत का आंकड़ा 73 फीसदी घटा

News18Hindi
Updated: February 6, 2020, 4:04 PM IST
अनुच्‍छेद-370 हटाने के बाद जम्‍मू-कश्‍मीर में सुरक्षाबलों के जवानों की शहादत का आंकड़ा 73 फीसदी घटा
जम्‍मू-कश्‍मीर में अगस्‍त 2019 से 24 जनवरी 2020 के बीच 173 दिन में 22 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए हैं.

गृह राज्‍यमंत्री जी. किशन रेड्डी (G Kishan Reddy) ने एक सवाल के जवाब में संसद (Parliament) को बताया कि 5 अगस्‍त 2019 से अब तक जम्‍मू-कश्‍मीर पब्लिक सेफ्टी एक्‍ट (Jammu-Kashmir PSA) के तहत 444 लोगों को हिरासत में लेना का आदेश (Detention Orders) दिया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 6, 2020, 4:04 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. केंद्रीय गृह मंत्रालय के मुताबिक, अनुच्‍छेद-370 (Article 370) हटाए जाने के बाद से जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu-kashmir) में सुरक्षा बलों के जवानों के शहीद होने का आंकड़ा 73 फीसदी घट गया है. गृह राज्‍यमंत्री जी. किशन रेड्डी (G. Kishan Reddy) ने राज्‍यसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में बताया कि जम्‍मू-कश्‍मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्‍छेद को हटाए जाने के बाद से सूबे में हालात बेहतर हुए हैं. उन्‍होंने बताया कि अगस्‍त, 2019 से लेकर अब तक जम्‍मू-कश्‍मीर जन सुरक्षा कानून (PSA) के तहत 444 लोगों को हिरासत में लेने के आदेश (Detention Orders) दिए गए हैं.

24 जनवरी 2020 तक 173 दिन में शहीद हुए 22 जवान
रेड्डी ने संसद को बताया कि पीएसए के तहत हिरासत में लिए गए लोगों में 389 अब भी हिरासत में ही हैं. उन्‍होंने बताया कि 5 अगस्‍त 2019 से 24 जनवरी 2020 के बीच 173 दिन में 22 सुरक्षाकर्मी (Security Personnel) शहीद हुए हैं. वहीं, 13 फरवरी से 4 अगस्‍त 2019 तक 82 जवान शहीद हुए थे. इसके अलावा 5 अगस्‍त से अब तक 32 आतंकी (Terrorists) ढेर किए गए हैं. इस दौरान 10 आतंकियों को गिरफ्तार किया गया. वहीं, आतंकी हमलों या आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई के दौरान 19 नागरिकों की मौत हुई है.

गृह राज्‍यमंत्री जी. किशन रेड्डी ने राज्‍यसभा में बताया कि जम्‍मू-कश्‍मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्‍छेद को हटाए जाने के बाद से सूबे में हालात बेहतर हुए हैं.


हिरासत बढ़ाने के लिए की जा रही है नियमित समीक्षा
गृह राज्‍यमंत्री जी. किशन रेड्डी ने राज्‍यसभा (Rajya Sabha) में दिए लिखित जवाब में कहा कि हिरासत (Detention) के मामले में हर केस में अलग से और नियमित समीक्षा (Review) की जा रही है. इसके बाद तय किया जा रहा है कि उनकी हिरासत बढ़ाई जानी है या खत्‍म की जानी है. ये फैसला लेने के लिए जमीन पर काम कर रही एजेंसियों (Agencies) की रिपोर्ट और जमीनी हालात (Ground Situation) को ध्‍यान में रखा जा रहा है.

5 अगस्‍त से अब तक 32 आतंकी ढेर किए गए हैं. इस दौरान 10 आतंकियों को गिरफ्तार किया गया.
श्रीनगर में थाने पर ग्रेनेड फेंका, एक पुलिसकर्मी जख्‍मी
इस बीच खबर आई कि श्रीनगर में एक पुलिस थाने पर आतंकवादियों ने ग्रेनेड फेंका, जिसमें एक पुलिसकर्मी घायल हो गया. अधिकारियों ने बताया कि आतंकवादियों ने लाल बाजार पुलिस थाना को निशाना बनाकर ग्रेनेड फेंका था, जो पास में कचरे के डब्बे में जा गिरा. उन्होंने बताया कि धमाके में एक पुलिसकर्मी मामूली रूप से जख्मी हुआ है. हालांकि पुलिस यही कह रही है कि कचरे के डब्बे के पास हुआ विस्फोट ‘संदेहास्पद’ है, जिसकी जांच की जा रही है. शहर के बाहरी इलाके में शालातेंग में बुधवार को गोलीबारी की एक घटना में दो आतंकवादी मारे गए थे और एक आतंकवादी को जिंदा पकड़ लिया गया था. घटना में सीआरपीएफ का एक जवान भी शहीद हो गया था.

ये भी पढ़ें:

मोदी का राहुल को जवाब- डंडे खाने के लिए और ज्यादा करूंगा सूर्य नमस्कार

फेक न्यूज शेयर करने के आरोप में मनीष सिसोदिया पर कोर्ट में आपराधिक शिकायत दर्ज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 6, 2020, 4:04 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर