जेल से छूटने के बाद पहली बार संसद पहुंचे चिदंबरम, कुछ देर में करेंगे प्रेस कॉन्फ्रेंस

जेल से बाहर आने के बाद अपने घर पर पी. चिदंबरम

जेल से बाहर आने के बाद अपने घर पर पी. चिदंबरम

पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम (P Chidambaram) संसद की कार्रवाई में शामिल होने के लिए संसद पहुंच गए हैं. वह आईएनएक्स मीडिया मनी लॉन्ड्रिंग मामले में 106 दिन हिरासत में रहे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2019, 12:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आईएनएक्स मीडिया मामले (INX Media Case) में जमानत मिलने के बाद गुरुवार को पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम (P Chidambaram) संसद की कार्रवाई में शामिल होने के लिए संसद पहुंच गए हैं. जेल से निकलने के बाद पी चिदंबरम ने सरकार पर हमला करते हुए कहा कि अर्थव्यवस्था गलत हाथों में है. चिदंबरम ने कहा, सरकार अर्थव्यवस्था संभाल नहीं पा रही है. उधर संसद भवन परिसर में महंगे प्याज के खिलाफ कांग्रेस सांसद प्रदर्शन कर रहे हैं. गौरतलब है कि 106 दिन बाद बाहर आए चिदंबरम ने कहा कि उनके खिलाफ एक भी आरोप तय नहीं किए गए.



संसद परिसर में प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस सांसदों ने हाथों में पोस्टर ले रखे थे. इस पोस्टर में लिखा था, 'महंगाई की प्याज पर मार, चुप क्यों है मोदी सरकार'. संसद पहुंचे पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम भी कांग्रेस के इस प्रदर्शन में उनके साथ थे.









सोनिया से मिले चिदंबरम
उच्चतम न्यायालय से जमानत मिलने के बाद बुधवार रात  को पी. चिदंबरम  ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की थी और कहा कि वह जेल से बाहर निकलकर खुश हैं. सूत्रों के मुताबिक चिदंबरम के सोनिया से मिलने के दौरान उनके बेटे कार्ति चिदंबरम भी साथ थे.



सोनिया से मुलाकात के बाद चिदंबरम ने संवाददाताओं से कहा, 'मैं खुश हूं कि सुप्रीम कोर्ट ने मुझे जमानत देने का आदेश दिया. मुझे खुशी है कि मैं 106 दिनों के बाद बाहर आ गया और खुली हवा में सांस ले रहा हूं.' जेल से बाहर आने के बाद चिदंबरम गुरुवार को कांग्रेस मुख्यालय में पहली बार संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करेंगे .



क्या कहा बेटे कार्ति ने?

चिदंबरम के बेटे कार्ति जेल के बाहर उनका इंतजार कर रहे थे. उन्होंने कहा कि वह खुश हैं क्योंकि उनके पिता 106 दिनों के बाद घर लौट रहे हैं. उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘लंबा इंतजार रहा. मैं उच्चतम न्यायालय का शुक्रगुजार हूं कि उसने उन्हें जमानत दी. मैं सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा समेत पूरे कांग्रेस नेतृत्व का आभारी हूं जिन्होंने हमारा सहयोग किया.’



राहुल बोले- बदले की कार्रवाई

पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को कहा कि पार्टी के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम को 106 दिन तक कैद रखना बदले की कार्रवाई थी. गांधी ने कहा, ‘माननीय पी चिदंबरम को 106 दिन तक कैद में रखना बदले की कार्रवाई थी. मैं खुश हूं कि सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें जमानत दी. मुझे पूरा भरोसा है कि वह निष्पक्ष सुनवाई में स्वयं को निर्दोष साबित करेंगे.’



सुप्रीम कोर्ट से मिली ज़मानत

सुप्रीम कोर्ट की ओर से पी चिदंबरम को जमानत दिये जाने के कुछ घंटे बाद पूर्व वित्त मंत्री ने शीर्ष अदालत के आदेश के अनुसार बुधवार को दिल्ली की एक अदालत में दो लाख रुपये का निजी मुचलका भरा. विशेष न्यायाधीश अजय कुमार कुहाड़ ने मुचलका और इतनी ही राशि की दो जमानतें स्वीकार कीं और उनकी रिहाई के आदेश जारी किये.



(भाषा इनपुट के साथ)



 



ये भी पढ़ें:



जितेन्द्र सिंह ने की गृह मंत्री की तारीफ, बोले- अमित शाह ‘दयालु गृह मंत्री’



नरसिम्हा राव अगर गुजराल की सलाह मान लेते तो नहीं होता सिख दंगा: मनमोहन सिंह
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज