कृषि संबंधी विधेयक राज्यसभा में पास होने पर PM मोदी ने कहा- अन्नदाताओं को मिली बिचौलियों से आजादी

पीएम मोदी ने कहा संसद में पारित विधेयकों से अन्नदाताओं को इन सबसे आजादी मिली है.
पीएम मोदी ने कहा संसद में पारित विधेयकों से अन्नदाताओं को इन सबसे आजादी मिली है.

Farm Bills 2020: खेती-किसानी से जुड़े तीन अहम विधेयक राज्यसभा में भारी हंगामे की बीच ध्वनिमत से पास होने के बाद पीएम मोदी ने आज के दिन को भारत की कृषि के इतिहास का एक बड़ा दिन बताया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 20, 2020, 8:05 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राज्यसभा (Rajyasabha) ने कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्द्धन और सरलीकरण) विधेयक-2020, कृषक (सशक्तिकरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन समझौता और कृषि सेवा पर करार विधेयक-2020 को मंजूरी दे दी. राज्यसभा में इस विधेयक के पास होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने ट्वीट कर आज के दिन को भारत के कृषि इतिहास में बड़ा दिन बताया. इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने देश के अन्नदाताओं को बधाई भी दी. पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा- "भारत के कृषि इतिहास में आज एक बड़ा दिन है. संसद में अहम विधेयकों के पारित होने पर मैं अपने परिश्रमी अन्नदाताओं को बधाई देता हूं. यह न केवल कृषि क्षेत्र में आमूलचूल परिवर्तन लाएगा, बल्कि इससे करोड़ों किसान सशक्त होंगे."

पीएम मोदी ने कहा कि "इन विधेयकों से अन्नदाताओं को बिचौलियों और तमाम बंधनों से आजादी मिली है. पीएम मोदी ने लिखा- दशकों तक हमारे किसान भाई-बहन कई प्रकार के बंधनों में जकड़े हुए थे और उन्हें बिचौलियों का सामना करना पड़ता था. संसद में पारित विधेयकों से अन्नदाताओं को इन सबसे आजादी मिली है. इससे किसानों की आय दोगुनी करने के प्रयासों को बल मिलेगा और उनकी समृद्धि सुनिश्चित होगी." पीएम मोदी ने आगे लिखा कि- "हमारे कृषि क्षेत्र को आधुनिकतम तकनीक की तत्काल जरूरत है, क्योंकि इससे मेहनतकश किसानों को मदद मिलेगी. अब इन बिलों के पास होने से हमारे किसानों की पहुंच भविष्य की टेक्नोलॉजी तक आसान होगी. इससे न केवल उपज बढ़ेगी, बल्कि बेहतर परिणाम सामने आएंगे. यह एक स्वागत योग्य कदम है."

Pm narendra modi tweets
पीएम मोदी ने किये ये ट्वीट्स





प्रधानमंत्री मोदी ने पहले कही अपनी बात को दोहराते हुए कहा कि-
मैं पहले भी कहा चुका हूं और एक बार फिर कहता हूं:

MSP की व्यवस्था जारी रहेगी.

सरकारी खरीद जारी रहेगी.

हम यहां अपने किसानों की सेवा के लिए हैं. हम अन्नदाताओं की सहायता के लिए हरसंभव प्रयास करेंगे और उनकी आने वाली पीढ़ियों के लिए बेहतर जीवन सुनिश्चित करेंगे.


ये भी पढ़ें- राज्यसभा में विपक्ष के हंगामे के बीच ध्वनि मत से पास हुआ कृषि बिल

सदन में विपक्ष का हंगामा
बता दें संसद में इन विधेयकों के पास होने पर विपक्ष ने काफी हंगामा किया. विपक्ष ने उस समय हंगामा किया जब सरकार ने कृषि से संबंधित दो विधेयकों को पारित कराने पर जोर दिया. तृणमूल कांग्रेस सदस्यों के नेतृत्व में कुछ विपक्षी सदस्य आसन के बिल्कुल पास आ गए. हंगामे के कारण बैठक को कुछ देर के लिए स्थगित कर दिया गया.

तृणमूल कांग्रेस, कांग्रेस और वाम सहित विभिन्न दलों के सदस्यों ने उस समय हंगामा किया जब उप-सभापति हरिवंश ने दोनों विधेयकों को प्रवर समिति में भेजे जाने के प्रस्ताव पर मतविभाजन की उनकी मांग पर गौर नहीं किया. इससे पहले नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आज़ाद ने मांग की कि दोनों विधेयकों पर हुयी चर्चा का जवाब कल के लिए स्थगित कर दिया जाए क्योंकि रविवार को बैठक का निर्धारित समय समाप्त हो गया है.

एक बार के स्थगन के बाद बैठक पुन: शुरू होने पर सदन ने कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्द्धन और सरलीकरण) विधेयक-2020 और कृषक (सशक्तिकरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन समझौता और कृषि सेवा पर करार विधेयक-2020 को ध्वनिमत से मंजूरी दे दी. उस समय भी सदन में विपक्ष का हंगामा जारी था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज