अपना शहर चुनें

States

कृषि कानून: धरना दे रहे कांग्रेस सांसदों से मिलीं प्रियंका, सरकार को लगातार घेर रहा गांधी परिवार

जंतर-मंतर पर प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस सासंदों से महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मुलाकात की. (फोटो: ANI/Twitter)
जंतर-मंतर पर प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस सासंदों से महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मुलाकात की. (फोटो: ANI/Twitter)

Farmers Protest: प्रियंका गांधी वाड्रा और कांग्रेस विधायकों-सांसदों के बीच मुलाकात राहुल गांधी के आवास पर हुई थी. गुरुवार को राहुल ने भी सरकार पर ईंधन की बढ़ती कीमतों को लेकर सवाल उठाए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 8, 2021, 6:05 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली की सरहदों (Delhi Borders) पर किसानों का प्रदर्शन जारी है. इसी बीच गांधी परिवार ने भी किसान मुद्दे पर सरकार को घेरने की तैयारी कर ली है. शुक्रवार को जंतर-मंतर पर प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस सांसदों से महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने मुलाकात की. ये सांसद किसानों के साथ मिलकर सरकार के नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. खास बात है कि गुरुवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने भी सरकार को कई मुद्दों पर घेरा था.

समचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, प्रियंका गांधी वाड्रा और कांग्रेस सांसदों के बीच मुलाकात राहुल गांधी के आवास पर हुई थी. ये किसान लंबे समय से धरना दे रहे हैं. वहीं, राहुल गांधी भी सरकार पर जमकर निशाना साध रहे हैं. गुरुवार को उन्होंने भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर किसानों के साथ धोखा करने का आरोप लगया है. उन्होंने कहा, 'मोदी सरकार ने अपने पूंजीपति मित्रों के फ़ायदे के लिए देश के अन्नदाता के साथ विश्वासघात किया है. आंदोलन के माध्यम से किसान अपनी बात कह चुके हैं. अन्नदाताओं की आवाज़ उठाना और उनकी मांगों का समर्थन करना हम सब का कर्तव्य है.'

इसके अलावा गुरुवार को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी सरकार पर जमकर सवाल उठाए थे. गांधी ने बीजेपी सरकार (BJP Government) पर पेट्रोल-डीजल, गैस सिलेंडर के बढ़ते दामों समेत कई मुद्दों पर घेरा था. इस दौरान गांधी ने किसान आंदोलन का भी जिक्र किया था.




यह भी पढ़ें: सोनिया गांधी का केंद्र पर वार, कहा-सरकार गरीब किसान व मध्यम वर्ग की कमर तोड़ने में जुटी

गुरुवार को गांधी के तरफ से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया, 'एक ओर देश का अन्नदाता पिछले 44 दिनों से दिल्ली की सीमाओं पर अपनी जायज मांगों के समर्थन में डटा हुआ है वहीं देश की निरंकुश, संवेदनहीन और निष्ठुर भाजपा सरकार गरीब किसान व मध्यम वर्ग की कमर तोड़ने में जुटी है.' उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की सरकार पर कोरोना काल में खजाना जमा करने के आरोप लगाए थे.

शुक्रवार को राहुल ने भी सरकार पर ईंधन की बढ़ती कीमतों को लेकर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा 'पेट्रोल-डीज़ल के दामों में ग़ज़ब का ‘विकास’ हुआ है. मोदी सरकार ईंधन पर भारी टैक्स वसूलकर जनता को लूट रही है. यही कारण है कि सरकार पेट्रोल-डीज़ल पर GST लागू करने को तैयार नहीं.' शुक्रवार को सरकार और किसान संगठनों के बीच बैठक जारी है. सरकार को इस बैठक से काफी उम्मीदें हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज