अपना शहर चुनें

States

बंगाल फतह के लिए BJP ने कसी कमर, अमित शाह चुनाव तक हर महीने करेंगे राज्य का दौरा

फाइल फोटोः बीजेपी नेता अमित शाह विधानसभा चुनाव तक हर महीने करेंगे दौरा
फाइल फोटोः बीजेपी नेता अमित शाह विधानसभा चुनाव तक हर महीने करेंगे दौरा

बंगाल चुनाव (West Bengal Election 2021) की तैयारियों को चाक-चौबंद रखने के लिए पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) और अमित शाह (Amit Shah) हर महीने बंगाल का दौरा करेंगे और राज्य इकाई द्वारा की जा रही चुनाव तैयारियों का जायजा लेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 18, 2020, 4:54 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 में ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) सरकार को सत्ता से हटाने के लिए बीजेपी (BJP) कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती. भारतीय जनता पार्टी की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष (Dilip Ghosh) ने बुधवार को कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह एवं पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा प्रदेश में विधानसभा चुनाव समाप्त होने तक प्रत्येक महीने राज्य का दौरा करेंगे.

इसके साथ ही बीजेपी ने अपने शीर्ष नेताओं को बंगाल का दौरा करने और ग्राउंड रिपोर्ट तैयार कर रणनीति तैयार करने को कहा है. पश्चिम बंगाल की 294 सदस्यीय विधानसभा के लिए अगले साल अप्रैल-मई में चुनाव होने हैं.

दिलीप घोष ने कहा, 'अमित शाह एवं जेपी नड्डा विधानसभा चुनाव समाप्त होने तक हर महीने अलग अलग राज्य के दौरे पर आएंगे. तारीखों को अंतिम रूप दिया जाना बाकी है. उनके नियमित दौरों से पार्टी कार्यकर्ताओं का उत्साहवर्द्धन होगा.' पार्टी सूत्रों ने बताया कि शाह के हर महीने लगातार दो दिन दौरा करने की संभावना है, जबकि नड्डा की यात्रा तीन दिवसीय होगी.



बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और राष्ट्रीय महासचिव संगठन बीएल संतोष ने राज्य इकाई के नेताओं को जिम्मेदारी दी है कि पार्टी के भीतर विभिन्न वर्गों से बात कर मुद्दों को समझें. पार्टी की कोशिश कार्यकर्ताओं को ये संदेश देने की है कि उनकी समस्याओं और चिंताओं को राष्ट्रीय नेतृत्व सुन रहा है और उनके समाधान की कोशिश की जाएगी.
बंगाल: ममता को घेरने के लिए BJP का प्लान, 5 बड़े नेताओं को कमान, अमित शाह रखेंगे निगाह

कांग्रेस-माकपा गठबंधन पर बरसते हुए घोष ने कहा कि दोनों दलों को लोगों ने बहुत पहले खारिज कर दिया है. उन्होंने कहा, 'पश्चिम बंगाल के लोगों ने कांग्रेस, माकपा एवं तृणमूल कांग्रेस को मौका दिया. लोगों की आकांक्षाओं पर खरा उतरने में तीनों दल नाकाम रहे हैं, इन उम्मीदों को अब भाजपा पूरा करेगी.' पार्टी सूत्रों ने बताया कि राज्य विधानसभा चुनाव को देखते हुए भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश को पांच संगठनात्मक क्षेत्रों में वि​भाजित किया है और केंद्रीय नेताओं को उनका प्रभारी नियुक्त किया है.

बंगाल चुनाव में BJP से कैसे लड़ेगी TMC? प्रशांत किशोर के कारण पार्टी में पड़ रही फूट

भाजपा के वरिष्ठ नेताओं- सुनील देवधर, विनोद तावड़े, दुष्यंत गौतम, हरीश द्विवेदी और विनोद सोनकर को पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने उत्तर बंगाल, रढ़ बंगा (दक्षिण पश्चिम जिलों), नबाद्वीप, मिदनापुर और कोलकाता संगठनात्मक क्षेत्र का प्रभारी नियुक्त किया है. देवधर, तावड़े एवं सोनकर के संभवत: बुधवार अपने संबंधित क्षेत्र में बैठक करने का कार्यक्रम है.

पश्चिम बंगाल में सीमित उपस्थिति के बावजूद पिछले साल हुए लोकसभा चुनाव में 42 में से 18 सीट जीत कर भाजपा, सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के मुख्य प्रतिद्वंद्वी के रूप में उभरी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज