वर्ल्ड कप से ठीक पहले नाइकी ने ईरान से करार तोड़ा, नहीं देगा नए जूते

ईरान के फुटबाल महासंघ ने 2014 विश्व कप के दौरान प्रतिबंधों के बावजूद टीम को जूता आपूर्ति करने वाली कंपनी के द्वारा वर्ल्ड कप से ठीक पहले लिए गये इस फैसले पर फीफा से जवाब मांगा है.

News18Hindi
Updated: June 14, 2018, 12:56 PM IST
वर्ल्ड कप से ठीक पहले नाइकी ने ईरान से करार तोड़ा, नहीं देगा नए जूते
प्रतिकात्मक तस्वीर
News18Hindi
Updated: June 14, 2018, 12:56 PM IST
स्पोर्ट्स प्रोडक्ट बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी नाइकी ने अमेरिकी प्रतिबंध के चलते वर्ल्ड कप के ठीक पहले ईरान की फुटबॉल टीम से करार तोड़ लिया है. यानी अब ईरान के खिलाड़ियों को नये जूतों के साथ मैदान में उतरना होगा.

ईरान के खिलाड़ी अब तक नाइकी के जूतों का इस्तेमाल कर रहे थे. ऐसे में वर्ल्ड कप के दौरान मैदान पर खुद को ढालने में ईरान के खिलाड़ियों को परेशानी हो सकती है. 'ईएसपीएन' के मुताबिक नाइकी ने कहा कि वो इस एशियाई देश पर लगे आर्थिक प्रतिबंधों के कारण वर्ल्ड कप के लिए जूते मुहैया नहीं करा पाएंगे.

नाइकी ने कहा, "अमेरिकी प्रतिबंधों का मतलब है कि अमेरिका की कंपनी नाइकी ईरान की राष्ट्रीय टीम को जूते की आपूर्ति नहीं कर सकेगी."

कंपनी ने हालांकि माना कि ये प्रतिबंध पहले से लगा है. ईरान के फुटबाल महासंघ ने 2014 विश्व कप के दौरान प्रतिबंधों के बावजूद टीम को जूता आपूर्ति करने वाली कंपनी के द्वारा वर्ल्ड कप से ठीक पहले लिए गये इस फैसले पर फीफा से जवाब मांगा है.

कंपनी के इस फैसले से गुस्साए ईरान के कोच कार्लोस क्विरोज ने कहा, "खिलाड़ी अपनी खेल सामग्री को लेकर अभ्यस्त होते हैं और इतने बड़े टूर्नामेंट से एक सप्ताह पहले उसे बदलना सही नहीं है."

आपको बता दें कि ईरान ग्रुप बी में है जहां शुक्रवार को उसे मोरक्को के खिलाफ अपना पहला मैच खेलना है. इस ग्रुप में स्पेन और पुर्तगाल जैसी विश्व कप की मजबूत टीमें भी हैं.

ये भी पढ़ें:

जब चोरी हो गई थी फीफा वर्ल्ड कप की ट्रॉफी, फिर ये डॉगी बना 'मसीहा'

फीफा वर्ल्ड कप टीमों के सबसे वैल्यू वाले खिलाड़ी
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर