लाइव टीवी

राफेल की डिलीवरी से पहले फ्रांस ने भारत से निभाई दोस्ती, PoK चीफ का न्योता किया कैंसिल

News18Hindi
Updated: October 4, 2019, 8:04 AM IST
राफेल की डिलीवरी से पहले फ्रांस ने भारत से निभाई दोस्ती, PoK चीफ का न्योता किया कैंसिल
राफेल की डिलीवरी से पहले फ्रांस ने भारत के साथ अपनी दोस्ती निभाते हुए, कश्मीर मामले पर पाकिस्तान को झटका दिया है.

सूत्रों ने बताया कि भारत (India) के विरोध को ध्यान में रखते हुए, फ्रांसीसी सरकार ने नेशनल असेंबली (National Assembly) को सूचित किया कि इस तरह के कदम से भारत-फ्रांसीसी संबंधों (Indo-France Relations) पर असर पड़ सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 4, 2019, 8:04 AM IST
  • Share this:
(माहा सिद्दिकी)

नई दिल्ली. कश्मीर मुद्दे (Kashmir Issue) पर पाकिस्तान (Pakistan) दुनिया भर में अपना प्रोपगेंडा फैलाने की कोशिश कर रहा है. पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर लगातार कश्मीर मुद्दा उठाने की कोशिश में लगा है लेकिन भारत (India) ने हाल ही में फ्रांस (France) में उसकी ऐसी ही कोशिश को नाकाम कर दिया.

News18 की रिपोर्ट के मुताबिक सितंबर के आखिर में आयोजित किए गए कार्यक्रम में भारत ने फ्रांसीसी विदेश मंत्रालय में कश्मीर को लेकर फ्रेंच नेशनल असेंबली में निराशा व्यक्त की. इस कार्यक्रम में फ्रांसीसी विधायकों से बात करने के लिए मुख्य अतिथि के रूप में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (Pakistan Occupied Kashmir) के चीफ मसूद खान को आमंत्रित करने के लिए योजना बनाई गई थी.

भारत से दोस्ती का रखा ध्यान

सूत्रों ने बताया कि भारत के विरोध को ध्यान में रखते हुए, फ्रांसीसी सरकार ने नेशनल असेंबली को सूचित किया कि इस तरह के कदम से भारत-फ्रांसीसी संबंधों पर असर पड़ सकता है. ऐसे में नेशनल असेंबली ने खान को मुख्य अतिथि के रूप में न्योता देने के विचार को बदल लिया. ये कार्यक्रम फ्रांस-पाकिस्तान फ्रेंडशिप ग्रुप द्वारा 26 सितंबर को आयोजित किया गया था. सूत्रों के मुताबिक इस कार्यक्रम में सिर्फ पाकिस्तान के फ्रांस में राजदूत मोइन-उल-हक शरीक हुए.

भारत को मिलेगी राफेल की डिलीवरी


दिलचस्प बात यह है कि अगस्त में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के हटाए जाने के बाद पाकिस्तान के भारत के साथ राजनयिक संबंधों को कम करने का फैसला करने से पहले हक को भारत में अगले उच्चायुक्त के रूप में नामित किया गया था. भारत के जम्मू कश्मीर पर फैसले के बाद पाकिस्तान ने अपने उच्चायुक्त को नई दिल्ली नहीं भेजने का फैसला किया था और भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया को इस्लामाबाद छोड़ने के लिए भी कहा था.
Loading...

पेरिस जाएंगे राजनाथ सिंह
इस बीच खबर है कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आठ अक्टूबर को पेरिस में फ्रांस के वायुसेना अड्डे पर राफेल लड़ाकू विमान में उड़ान भरेंगे. सूत्रों ने कहा कि राजनाथ सिंह का सात अक्टूबर को तीन दिवसीय यात्रा के लिये पेरिस रवाना होने का कार्यक्रम है, जहां आठ अक्टूबर को भारतीय वायुसेना के स्थापना दिवस पर भारत को पहला राफेल लड़ाकू विमान सौंपा जाएगा. फ्रांस को कुल 36 राफेल लड़ाकू विमान सौंपने हैं.

सूत्रों ने कहा कि रक्षा मंत्री विमान हासिल करने के बाद उसमें उड़ान भरेंगे. कार्यक्रम में फ्रांस के शीर्ष सैन्य अधिकारियों के साथ साथ रफाल की निर्माण कंपनी डसो एविएशन के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहेंगे.

ये भी पढ़ें-
पूर्व सैन्य अधिकारी का दावा- भारत ने पाक की परमाणु धमकी का दो बार जवाब दिया

LoC पर मार्च करने की तैयारी कर रही पाक सेना, भारतीय सेना देगी मुंहतोड़ जवाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 4, 2019, 7:27 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...