अपना शहर चुनें

States

अहमदाबाद: 12 दिन की बच्ची को मंदिर में छोड़ गई थी महिला, पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी. (Pic- News18)
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी. (Pic- News18)

आरोपी ने अब तक पुलिस को बताया था कि उसने लड़की को हाईवे पर पाया और बाद में उसे मंदिर में बंद कर दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 4, 2021, 8:37 AM IST
  • Share this:
अहमदाबाद. अहमदाबाद (Ahmedabad) में 10 दिन की बच्ची को छोड़ने के मामले में हाल ही में हुई पुलिस जांच में एक बड़ा खुलासा हुआ है. जांच में आरोपी महिला की सारी बातें झूठी निकलीं और सच सामने आया. महिला ने लड़की के बारे में कबूल किया और पुलिस को बताया कि यह उसके दोस्त की अविवाहित बेटी की लड़की थी. पुलिस ने कहा कि जांच में पता चला है कि लड़की की मां अविवाहित थी और इसलिए समाज में कलंक से बचने के लिए यह साजिश रची गई थी.

मणिनगर के जोगनी माताजी के मंदिर में 10 से 12 दिन की बच्ची को छोड़ने के आरोपियों को गिरफ्तार किया गया. तीन दिनों तक पुलिस को आरोपियों से पूछताछ करने में कोई सफलता नहीं मिली. लेकिन बाद में राजस्थान की एक महिला प्रसन्ना प्रजापति से पूछताछ में महत्वपूर्ण खुलासे हुए और मामले के कई तथ्य पुलिस के संज्ञान में आए हैं.

आरोपी ने अब तक पुलिस को बताया था कि उसने लड़की को हाईवे पर पाया और बाद में उसे मंदिर में बंद कर दिया. हालांकि पुलिस को पहले से ही इस कहानी पर विश्वास नहीं हुआ और आरोपी महिला ने सख्ती से पूछताछ की गई तो लड़की की एक मां होने की बात कबूल कर ली.



पुलिस ने जांच शुरू की लेकिन आरोपी ने इस एक बात के अलावा कुछ नहीं कहा. इसलिए अब भविष्य में एक टीम को आरोपी के दोस्त से पूछताछ और हिरासत में लेने के लिए राजस्थान भेजा जाएगा. पुलिस की जांच में एक बात यह भी सामने आई है कि लड़की की मां शायद 19 साल की है और वह अविवाहित भी है. मणिनगर पुलिस स्टेशन के पीआई भरत गोयल ने कहा कि लड़की की मां का कोनी के साथ संबंध था और इस संबंध में राजस्थान में कोई अपराध दर्ज किया गया था या नहीं, इसकी भी जांच की जाएगी.

बच्‍ची जब मिली थी, तब वह कुछ ही दिनों की थी. आरोपी प्रसन्ना 15 दिनों से अहमदाबाद में है. इसलिए माना जाता है कि यह साजिश पहले ही रची गई थी. दूसरी ओर पुलिस का मानना ​​है कि लड़की को इसलिए छोड़ दिया गया ताकि समाज में कलंकित न हुआ जाए. दूसरी तरफ पुलिस अब आरोपी प्रसन्ना की सीडीआर निकाल लेगी कि वह कहां, कैसे, किस वाहन में आई थी और कितने दिनों तक वह किसके संपर्क में रही है. उस समय, लड़की के अभिभावक को इस मामले में पता चला था, लेकिन उन लोगों को इस मामले में आरोपी बना दिया जाए तो कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज