सचिन पायलट को अविनाश पांडे का जवाब- आपने भाजपा के साथ मिलकर सत्य को काफी परेशान किया

अविनाश पांडे ने सचिन पायलट के ट्वीट का जवाब दिया है (फाइल फोटो)
अविनाश पांडे ने सचिन पायलट के ट्वीट का जवाब दिया है (फाइल फोटो)

सचिन पायलट (Sachin Pilot) के "सत्‍य को परेशान..." ट्वीट का अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव अविनाश पांडे (Avinash Pande) ने रीट्वीट कर जवाब दिया है. पांडे ने अपने जवाब में पायलट पर भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) से सांठ-गांठ करने का आरोप भी लगाया है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में बीते कई दिनों से उठा सियासी घमासान खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. सचिन पायलट (Sachin Pilot) को मंगलवार को मंत्री पद से हटाए जाने के बाद उन्होंने ट्वीट किया, 'सत्‍य को परेशान किया जा सकता है, पराजित नहीं.' पायलट के इस ट्वीट को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव अविनाश पांडे (Avinash Pande) ने रीट्वीट कर उन्हें जवाब दिया है. पांडे ने अपने जवाब में पायलट पर भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) से सांठ-गांठ करने का आरोप भी लगाया. पांडे ने लिखा है कि "सत्य वचन @SachinPilot आपने भाजपा के साथ मिलकर सत्य को काफी परेशान किया, लेकिन पराजित नहीं कर पाए न आगे कर पाएंगे. सत्यमेव जयते."

सचिन पायलट ने अपने ट्वीट के बाद अपने ट्विटर प्रोफाइल से उप मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष का उल्लेख हटा दिया. अब उनके प्रोफाइल में उनके विधायक (टोंक) और पूर्व केंद्रीय मंत्री होने तथा कांग्रेस के वेबसाइट लिंक का उल्लेख है. गौरतलब है कि कांग्रेस ने राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Government) के खिलाफ बगावत करने वाले पायलट को मंगलवार को उपमुख्यमंत्री एवं पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष पदों से हटा दिया. इसके साथ ही पार्टी ने कड़ा रुख अपनाते हुए पायलट खेमे में गए सरकार के दो मंत्रियों विश्वेंद्र सिंह (Vishwendra Singh) एवं रमेश मीणा (Ramesh Meena) को भी उनके पदों से तत्काल हटा दिया.


ये भी पढ़ें- सिंधिया, पायलट के बाद अब अपने बाकी युवा चेहरों को कैसे सहेजेगी कांग्रेस



अशोक गहलोत बोले- भाजपा के हाथ में खेल रहे सचिन पायलट
नेताओं को पद से हटाने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने मंगलवार को कहा कि बगावत करने वाले सचिन पायलट के हाथ में कुछ नहीं है और वे केवल भाजपा के हाथ में खेल रहे हैं. राज्यपाल कलराज मिश्र (Kalraj Mishra) से मुलाकात करने के बाद गहलोत ने संवाददाताओं से कहा कि भाजपा मध्य प्रदेश के खेल को राजस्थान में भी दोहराना चाहती थी और 'यह सब' पिछले छह महीने से चल रहा था.

गहलोत ने कहा कि पायलट व उनके साथ गए अन्य मंत्रियों, विधायकों को मौका दिया गया, लेकिन वे न तो सोमवार को और न ही मंगलवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक में आए. गहलोत ने कहा, “सचिन पायलट के हाथ में कुछ भी नहीं हैं. वह तो केवल भाजपा के हाथ में खेल रहे हैं ...जो रिसॉर्ट सहित बाकी सारे बंदोबस्त करने में जुटी है.” उन्होंने कहा कि पिछले छह महीने से राज्य में विधायकों की खरीद फरोख्त के प्रयास चल रहे थे.

'आलाकमान से नहीं की शिकायत'
पायलट सहित तीन मंत्रियों को उनके पदों से हटाए जाने के फैसले की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी ने मजबूर होकर यह फैसला किया है. गहलोत ने कहा, “आज के फैसले से कोई खुश नहीं है, न पार्टी, न आलाकमान.”

गहलोत ने कहा कि उन्होंने किसी की पार्टी आलाकमान से शिकायत नहीं की.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज