अपना शहर चुनें

States

महाराष्ट्र: बालासाहेब थोराट को बदलने की तैयारी में कांग्रेस, अध्यक्ष पद की रेस में बड़े मंत्री शामिल

बालासाहेब थोराट की फाइल फोटो
बालासाहेब थोराट की फाइल फोटो

दो दिनों के मुंबई दौरे पर पहुंचे एचके पाटिल (HK Patil) ने मंगलवार रात राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण (Prithviraj Chavan) से मुलाकात की. इसके बाद उन्होंने राज्य में पार्टी में बदलावों को लेकर थोराट से भी चर्चा की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 6, 2021, 4:53 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही कांग्रेस (Congress) अब नए फॉर्मूले के साथ मौजूद है. पार्टी ने 'एक व्यक्ति-एक पद' के नारे पर काम करना शुरू कर दिया है. इसके लिए पार्टी महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी (Maharashtra Pradesh Congress Committee) के अध्यक्ष बालासाहेब थोराट (Balasaheb Thorat) का विकल्प तलाश रही है. फिलहाल थोराट सत्तारूढ़ महाविकास अघाड़ी (Maha Vikas Aghadi) सरकार में राजस्व मंत्री का पद भी संभाल रहे हैं.

ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के महाराष्ट्र के इंचार्ज एचके पाटिल ने इस संबंध में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की है. सूत्रों के मुताबिक, थोराट के पास दो विकल्प हैं. वे या तो सरकार में राजस्व मंत्री बने रहे सकते हैं या प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष. हालांकि, सूत्रों ने यह भी दावा किया है कि उन्होंने सरकार में राजस्व मंत्री रहने की इच्छा जताई है. इन दोनों पदों के अलावा थोराट कांग्रेस लेजिसलेचर पार्टी के नेता भी हैं.

दो दिनों के मुंबई दौरे पर पहुंचे पाटिल ने मंगलवार रात राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण से मुलाकात की. इसके बाद उन्होंने राज्य में पार्टी में बदलावों को लेकर थोराट से भी चर्चा की थी. वहीं, बुधवार की सुबह राज्य पीडब्ल्युडी मंत्री अशोक चव्हाण भी पाटिल से मिले.



यह भी पढ़ें: औरंगाबाद पर सियासत जारी, संजय निरुपम ने कहा- शिवसेना महापुरुषों को बीच में लाएगी तो गच्चा खाएगी
कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि पार्टी के वर्तमान हालात को देखते हुए चर्चाओं का दौर जारी है. थोराट के बाद राज्य में यह पद संभालने वालों में AICC गुजरात के महासचिव राजीव साटव, महाराष्ट्र के मंत्री अमित देशमुख, यशोमती ठाकुर, विजय वडेट्टीवार और विश्वजीत कदम का नाम आगे चल रहा है. पाटिल मुंबई दौरे के दौरान पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं और विधायकों से मुलाकात करेंगे.

नेतृत्व की लड़ाई लड़ रही है कांग्रेस
पार्टी में पदों को लेकर कलह लंबे समय से जारी है. वहीं, पार्टी में लीडरशिप को लेकर भी गुलाम नबी आजाद, कपिल सिब्बल समेत कई बड़े कांग्रेस नेता सवाल उठा चुके हैं. ऐसे में सोनिया गांधी ने बैठक कर विवाद सुलझाने की कोशिश की थी. जिसमें सामने आया था कि कांग्रेस में राहुल गांधी को ही अध्यक्ष बनाए जाने की मांग है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज