क्या नीम के पत्तों से खत्म होगा कोरोना वायरस? भारत में किया जाएगा ह्यूमन ट्रायल

क्या नीम के पत्तों से खत्म होगा कोरोना वायरस? भारत में किया जाएगा ह्यूमन ट्रायल
नीम के पत्ते

Coronavirus: ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद (AIIA) ने ऐलान किया है कि वो इस बात को लेकर परीक्षण करने जा रहे हैं कि आखिर कोरोना से लड़ने में नीम कितना कारगर है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 20, 2020, 10:48 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नीम (Neem) स्वाद में भले ही कड़वा हो, लेकिन इससे होने वाले फायदे किसी अमृत की तरह होते हैं. अब वैज्ञानिकों और डॉक्टरों की टीम इस बात का पता लगाने में जुटी है कि क्या नीम के पत्ते कोरोना वायरस (Coronavirus) की काट बन सकती है. ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद (AIIA) ने ऐलान किया है कि वो इस बात को लेकर परीक्षण करने जा रहे हैं कि आखिर कोरोना से लड़ने में नीम कितना कारगर है. इसके लिए AIIA ने निसर्ग हर्ब्स नाम की कंपनी के साथ हाथ मिलाया है. हरियाणा में फरीदाबाद के ESIC अस्पताल में इसको लेकर ह्यूमन ट्रायल किया जाएगा.

कैसे किया जाएगा ह्यूमन ट्रायल?
एक्सप्रेस फार्मा के मुताबिक AIIA के डायरेक्टर डॉक्टर तरुण नेसारी और ESIC अस्पताल के डीन डॉक्टर असीम सेन की देख रेख में 6 डॉक्टरों की एक टीम बनाई गई है. ये टीम 250 लोगों पर परीक्षण करेगी. इनके ट्रायल का मुख्य मकसद है ये पता लगाना कि आखिर नीम के तत्व कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने में कितना कारगर है.

इस ट्रायल के तहत लोगों को नीम की कैप्सूल दी जाएगी. ये ट्रायल दो तरीके से किए जाएंगे. 125 लोगों को निसर्ग के कैप्सूल दिए जाएंगे. जबकि बाकी बचे 125 लोगों को नीम के साधारण कैप्सूल दिए जाएंगे. इसके बाद इन सारे लोगों को 28 दिनों तक ऑजर्बेशन में रखा जाएगा.
कामयाबी की उम्मीद


इस क्नीनिकल ट्रायल के बारे में बात करते हुए, निसर्ग बायोटेक के संस्थापक और सीईओ गिरीश सोमन ने कहा, 'निसार भारत के शीर्ष आयुर्वेद अस्पताल और संस्थान के सहयोग से अपने फंड के साथ इस परीक्षण का संचालन करने वाला पहला मैन्युफैक्चरर है. अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान को आधुनिक तरीके से आयुर्वेद पर शोध करने के लिए जाना जाता है. हमारा नीम एक प्रभावी एंटीवायरल साबित होगा, और हम इसे मानक दवा के रूप में पेश करने के लिए आगे के शोध के लिए फंडिंग देख रहे हैं.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज