Home /News /nation /

AIIMS निदेशक गुलेरिया बोले- सितंबर में बच्चों के लिए आ सकती है कोवैक्सीन

AIIMS निदेशक गुलेरिया बोले- सितंबर में बच्चों के लिए आ सकती है कोवैक्सीन

तीसरी लहर में बच्चों पर खतरा (AP Photo/Anupam Nath)

तीसरी लहर में बच्चों पर खतरा (AP Photo/Anupam Nath)

AIIMS के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने दावा दिया है कि इस साल सितंबर में बच्चों के लिए टीका आ जाएगा.

    नई दिल्ली. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने दावा दिया है कि इस साल सितंबर में 2 साल और उससे ज्यादा उम्र वाले बच्चों के लिए टीका आ जाएगा. अंग्रेजी समाचार चैनल इंडिया टुडे के अनुसार गुलेरिया ने कहा कि सितंबर में बच्चों के लिए कोवैक्सीन आ जाएगी. उन्होंने कहा कि ट्रायल  के दूसरे और तीसरे चरण को पूरा कर के सितंबर तक डेटा आ जाएगा. इसके बाद बच्चों के लिए टीकों को अनुमति मिल जाएगी. एम्स निदेशक ने कहा कि अगर फाइजर की वैक्सीन को भारत में अनुमति मिल जाएगी तो यह भी बच्चों के  टीके के लिए एक विकल्प होगा.

    गुलेरिया ने कहा कि नीति बनाने वालों को अब स्कूल खोलने पर विचार करना चाहिए लेकिन इस बात का ख्याल रखा जाए कि कोई भी संस्थान कोविड का सुपर स्प्रेडर ना बन जाए. उन्होंने कहा कि गैर कंटेनमेंट जोन में हफ्ते में कम से कम तीन दिन स्कूल बुलाने और कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने से खास मदद मिलेगी.

    बच्चों में भी एंटीबॉडी बने
    एम्स निदेशक ने इस ओर इशारा किया कि सीरो सर्वे में यह सामने आया है कि बच्चों में भी एंटीबॉडी बने हैं. हालांकि उन्होंने इस बात को खारिज किया कि तीसरी लहर में बच्चों पर असर पड़ेगा. गुलेरिया ने दावा किया कि बच्चे अभी भी वायरस के संपर्क में हैं और वैक्सीनेशन ना होने के बाद भी उनमें कुछ इम्यूनिटी है. उन्होंने कहा कि बच्चे जब कोविड जांच के लिए आते हैं तो उनमें एंटीबॉडी का टेस्ट भी होता है.

    दूसरी ओर हाल ही में कर्नाटक सरकार की ओर से गठित 13 सदस्यों की कमेटी ने तीसरी लहर की आशंका के बीच बच्चों के लिए खास इंतजाम करने पर जोर दिया है. कर्नाटक सरकार ने महामारी की संभावित तीसरी लहर को रोकने के लिए सलाह देने के वास्ते हाल में जाने-माने हृदय रोग विशेषज्ञ एवं नारायण हेल्थ के संस्थापक डॉक्टर देवी शेट्टी के नेतृत्व में 13 सदस्यीय विशेषज्ञ समिति ने तालुक और जिला अस्पतालों तथा मेडिकल कॉलेजों में बच्चों के उपचार के लिए उच्च निर्भरता इकाई (एचडीयू) और गहन चिकित्सा कक्ष (आईसीयू) स्थापित करने तथा बाल रोग उपचार अस्पताल स्थापित करने की सिफारिश की है.

    वहीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को लोगों से महामारी की तीसरी लहर के खतरे के बीच बच्चों की सुरक्षा के लिए सभी प्रकार के उपाय करने का आग्रह किया, क्योंकि विशेषज्ञों ने आगाह किया है कि तीसरी लहर में बच्चों के लिए अधिक खतरा पैदा हो सकता है.

    Tags: Corona vaccination, Coronavirus in India, Covid19

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर