ऑक्‍सीजन का उचित इस्‍तेमाल हो, देश में इस समय गैर जरूरी घबराहट है: डॉ. गुलेरिया

डॉ. रणदीप गुलेरिया ने दी प्रतिक्रिया. (File pic)

डॉ. रणदीप गुलेरिया ने दी प्रतिक्रिया. (File pic)

Coronavirus: AIIMS के डायरेक्‍टर डॉ. रणदीप गुलेरिया (Randeep Guleria) ने कहा कि हम लोगों को कोरोना के मामलों की संख्‍या कम करने की जरूरत है. साथ ही अस्‍पताल में मौजूद संसाधनों को किफायती रूप में इस्‍तेमाल किया जाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2021, 6:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के मामलों के बीच ऑक्‍सीजन (Oxygen) की भी कमी लोगों को परेशानी में डाल रही है. लोग इस दौरान घरों में मरीजों के ऑक्‍सीजन (Oxygen Supply) के लिए परेशान हो रहे हैं. इस बीच दिल्‍ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (AIIMS) के डायरेक्‍टर डॉ. रणदीप गुलेरिया (Randeep Guleria) ने ऑक्‍सीजन की कमी को देखते हुए प्रतिक्रिया दी है. उन्‍होंने कहा कि हम लोगों को कोरोना के मामलों की संख्‍या कम करने की जरूरत है. साथ ही अस्‍पताल में मौजूद संसाधनों को किफायती रूप में इस्‍तेमाल किया जाए.

डॉ. गुलेरिया ने यह भी कहा कि ऑक्‍सीजन का इस समय उचित इस्‍तेमाल करना बेहद जरूरी है. इस समय देश में गैर जरूरी घबराहट फैली हुई है. डॉ. गुलेरिया ने कहा कि लोग पहले ही ऑक्‍सीजन सिलेंडर घर पर रख लेते हैं. लोगों को लगता है कि अगर मैं पहले ही अपने घर पर इसे रख लूंगा तो शायद आगे जरूरत पड़े तो परेशानी नहीं होगी. ये सब गलत धारणाएं हैं.

Youtube Video


एम्‍स प्रमुख ने कहा कि कोविड के इलाज की दिशा में ऑक्सीजन एक महत्वपूर्ण रणनीति है लेकिन इसका दुरुपयोग भी देखने में आ रहा है. अगर ऑक्सीजन सैचुरेशन की बात करें जिसे ऑक्सीमीटर के जरिएय आज सब लोग देख रहे हैं. यदि यह 90 से 100 के बीच तो इससे हमें घबराना नहीं चाहिए.


बता दें कि देश में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 3,52,991 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,73,13,163 हो गई जबकि उपचाराधीन मरीजों की संख्या 28 लाख को पार कर गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी. मंत्रालय द्वारा सोमवार सुबह आठ बजे तक अद्यतन की गई जानकारी के अनुसार, संक्रमण से 2,812 लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 1,95,123 हो गई है. ऐसे में लोगों के बीच ऑक्‍सीजन को लेकर मारामारी मची हुई है. देश के अस्‍पतालों में ऑक्‍सीजन की कमी देखने को मिल रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज