Home /News /nation /

AIIMS निदेशक रणदीप गुलेरिया बोले- लापरवाही से बढ़ा संक्रमण, नियमों का पालन करना जरूरी

AIIMS निदेशक रणदीप गुलेरिया बोले- लापरवाही से बढ़ा संक्रमण, नियमों का पालन करना जरूरी

एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया. (ANI/1 March 2021)

एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया. (ANI/1 March 2021)

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा कि वैक्सीनेशन, कोरोना को नियंत्रित करने का माध्यम है लेकिन यह कोई जादू नहीं है.

    नई दिल्ली. देश में कोरोना संक्रमण (Coronavirus In India) के बढ़ रहे मामलों के बीच राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि लापरवाही के चलते इतनी तेजी से मामले बढ़े. उन्होंने कहा कि हमें कोरोना के नियमों का पालन करना होगा. उन्होंने कहा कि जब कोरोना रोधी वैक्सीनेशन शुरू हुआ तो लोगों ने मान लिया कि कोरोना खत्म हो गया है. लोगों को लगा कि सोशल डिस्टेंसिंग की कोई जरूरत नहीं है. लोगों ने पार्टियां शुरू कर दीं और लापरवाही शुरू हो गई.

    गुलेरिया ने कहा कि लेकिन वायरस कहीं गया नहीं था. वायरस यहीं था. संक्रमण के नए वैरिएंट आ गए और फिर एकदम से कोरोना के मामले बढ़ने लगे. उन्होंने कहा कि हमारी ओर से ढील रही और संक्रमण के मामले बढ़ गए.

    लोगों की जांच हो और साथ ही वैक्सीनेशन भी- AIIMS निदेशक
    एम्स निदेशक ने कहा कि संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए हमें नियमों का पालन फिर से करना होगा. पहले की तरह संक्रमितों के संपर्क में आने वालों को आइसोलेट करना होगा साथ ही जिन इलाकों में ज्यादा मामले आ रहे हैं वहां कंटेनमेंट जोन बनाना होगा. उस इलाके में एक समय के लिए लॉकडाउन लगा सकते हैं ताकि कोई वहां से बाहर ना निकले. उस इलाके के सभी लोगों की जांच हो और साथ ही वैक्सीनेशन भी हो.

    उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन, कोरोना को नियंत्रित करने का माध्यम है लेकिन यह कोई जादू नहीं है. वैक्सीन का असर शुरू होने में 4-6 हफ्ते लग सकते हैं. टीके के दूसरे डोज दो हफ्ते के बाद ही संक्रमण से बचाव हो सकेगा. इसके साथ ही वैक्सीन हमें बीमारी से बचाएगी लेकिन संक्रमण होने के आसार बने रहेंगे. स्थिति गंभीर नहीं होगी और अस्पताल नहीं जाना पड़ेगा.

    देश में कोविड-19 के एक दिन में 1,31,968 नए मामले
    भारत में एक दिन में कोविड-19 के 1,31,968 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की कुल संख्या 1,30,60,542 हो गई. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार की सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, वायरस से 780 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,67,642 हो गई. 18 अक्टूबर के बाद सामने आए मौत के ये सबसे अधिक मामले हैं.

    आंकड़ों के अनुसार, देश में लगातार 30 दिनों से नए मामलों में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है और इसके साथ ही उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी बढ़कर 9,79,608 हो गई, जो कुल मामलों का 7.5 प्रतिशत है. देश में 12 फरवरी को सबसे कम 1,35,926 उपचाराधीन मरीज थे. यह संख्या उस समय के कुल मामलों का 1.25 प्रतिशत थी.

    Tags: AIIMS, Coronavirus in India, Randeep Guleria

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर