कोरोना वायरस: AIIMS डायरेक्टर डॉ. गुलेरिया बोले- छोटे लॉकडाउन से कोई फायदा नहीं, 14 दिन जरूरी

कोरोना वायरस: AIIMS डायरेक्टर डॉ. गुलेरिया बोले- छोटे लॉकडाउन से कोई फायदा नहीं, 14 दिन जरूरी
कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए कई राजयों ने लॉकडाउन में सख्ती के आदेश दिए हैं.

कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए यूपी (Uttar Pradesh) में 55 घंटे के लिए पूरी तरह से लॉकडाउन (Lockdown) किया गया है, तो वहीं महाराष्ट्र (Maharashtra) की उद्धव ठाकरे सरकार ने भी पुणे में 10 दिन का लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को देखते हुए ज्यादातर राज्यों ने फिर से लॉकडाउन (Lockdown) के आदेश दिए हैं. हालांकि राज्य सरकारों की ओर से लगाए जा रहे लॉकडाउन पर अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (AIIMS) के डायरेक्‍टर डॉ. रणदीप गुलेरिया (Randeep Guleria) ने अपनी असहमति जताई है. डॉ. गुलेरिया का कहना है कि कम समय के लिए लगाए जाने वाले लॉकडाउन से कोरोना की रफ्तार को रोक पाने में कोई मदद नहीं मिलेगी. अगर कोरोना की चेन को ​तोड़ना है तो राज्यों को कम से कम 14 दिन के लिए लॉकडाउन करना ही होगा. बता दें कि  यूपी (Uttar Pradesh) में 55 घंटे के लिए पूरी तरह से लॉकडाउन किया गया है तो वहीं महाराष्ट्र (Maharashtra) की उद्धव ठाकरे सरकार ने भी पुणे में 10 दिन लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है.

एसीबीआई की ओर से आयोजित इकॉनामिक कॉन्फ्रेंस में कोरोना के बारे में बात करते हुए एम्स डायरेक्टर डॉ. गुलेरिया ने कहा कि देश में इस समय कोरोना पीक पर है और अगले कुछ हफ्तों में कई राज्यों में इसमें सुधार दिखाई देगा तो कुछ में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती दिखेगी. गुलेरिया ने माना कि कोरोना के आंकड़ों में अभी कमी आने में काफी वक्त लग सकता है. गुलेरिया का बयान ऐसे समय में आया है जब कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या महज तीन दिनों में 1 लाख के आंकड़े को पार गई है.

डॉ. गुलेरिया ने कहा कि अनलॉक में मिली छूट का लोग गलत फायदा उठा रहे हैं और लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना पूरी तरह से छोड़ दिया है. प्रशासन को कोरोना क्लस्टर्स और कंटेनमेंट इलाकों में लगातार नजर रखनी चाहिए. उन्होंने कहा कि पूरे शहर में लॉकडाउन करने से कोई फायदा नहीं होगा. सरकार को कंटेनमेंट इलाकों की पहचान कर वहां पर लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराना चाहिए.



इसे भी पढ़ें :- भारत में 5 लाख मरीजों ने कोरोना को हराया, कुल केस हुए 8 लाख, करीब 22 हजार की गई जान
महाराष्ट्र में एक दिन में आए 7862 नए मामले
देश में कोरोना वायरस का हब बनते जा रहे महाराष्ट्र में शुक्रवार को संक्रमण की वजह से 226 लोगों की मौत हो गई. राज्य में कोरोना की वजह से यह अब तक की सार्वधिक मौत का आंकड़ा है. वहीं, आज कोरोना वायरस के 7862 नए मामले दर्ज किए गए. स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक नए मामले सामने आने के बाद राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 2,38,461 हो गई है, जिनमें 1,32,625 लोग ठीक हो चुके हैं और 9893 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading