AIIMS के डॉक्‍टर का दावा- झाड़ू से कोरोना वायरस फैलने का खतरा, इस्तेमाल करें वैक्‍यूम क्‍लीनर

झाड़ू से कोरोना वायरस के फैलने का दावा किया गया है.
झाड़ू से कोरोना वायरस के फैलने का दावा किया गया है.

झाड़ू से कोरोना वायरस (Coronavirus) फैल सकने का दावा एम्‍स के सर्जरी विभाग के अध्‍यक्ष डॉक्‍टर अनुराग श्रीवास्‍तव ने किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2020, 8:15 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के मामले लगातार तेजी से बढ़ रहे हैं. इसके साथ ही भारत में एक दिन में कोविड 19 से हो रही सर्वाधिक रिकवरी भी सामने आ रही हैं. वहीं कोरोना वायरस को लेकर दुनिया भर शोध जारी हैं. आएदिन इससे जुड़े कोई ना कोई तथ्‍य सामने आते हैं. अब हाल ही में एम्‍स के एक डॉक्‍टर ने दावा किया है कि सार्वजनिक स्‍थानों पर कोरोना वायरस झाड़ू के जरिये भी फैल सकता है. उनके अनुसार ऐसे में सार्वजनिक जगहों पर झाड़ू न लगाकर वैक्‍यूम क्‍लीनर का इस्‍तेमाल करना चाहिए.

झाड़ू से कोरोना वायरस फैल सकने का दावा एम्‍स के सर्जरी विभाग के अध्‍यक्ष डॉक्‍टर अनुराग श्रीवास्‍तव ने किया है. उनके अनुसार झाड़ू का इस्तेमाल और खुले में कूड़े को रखना कोरोना संक्रमण को बढ़ाने में काफी मददगार होता है. उन्‍होंने जानकारी दी कि कोरोना वायरस किसी भी तरह की सतह में तीन से पांच दिन तक रह सकता है. संक्रमित मरीज अगर कहीं छींकता या खांसता है तो उसके शरीर से निकलने वाले वायरस के कण आसपास की सतह पर गिर जाते हैं.

डॉक्‍टर ने बताया कि झाड़ू लगाने के दौरान शरीर से निकले कोरोना वायरस के यह कण धूल-मिट्टी में फैल जाते हैं. उस दौरान यदि कोई व्यक्ति वहां से गुजरता है तो यह वायरस सांस के जरिये उसके शरीर में प्रवेश कर जाता है. इस तरह से यह वायरस तेजी से फैल सकता है. डॉ. श्रीवास्तव ने इस मामले को देखते हुए लोगों से अपील की है कि 2 अक्‍टूबर को स्वच्छता अभियान में झाड़ू की जगह वैक्यूम क्लीनर का इस्तेमाल किया जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज