COVID-19: AIIMS की नर्स ने छोड़ा दादी का अंतिम संस्कार, कहा- कोरोना मरीजों को बचाना ज्यादा जरूरी

जॉन ने मरीजों के पास रहकर उनका उपचार करना ज्यादा जरूरी समझा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जॉन ने मरीजों के पास रहकर उनका उपचार करना ज्यादा जरूरी समझा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

COVID-19 in India: नर्स ने कहा 'अगर स्वास्थ्यकर्मी छुट्टियां लेने लगेगा, तो लोगों की देखभाल कौन करेगा? हम में से कई नर्स और डॉक्टर (Doctor) संक्रमित हो रहे हैं, लेकिन सैनिटेशन वर्कर से लेकर सिक्युरिटी गार्ड्स तक सभी हमारी मदद करने के लिए काफी मेहनत कर रहे हैं.'

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के इस दौर में मजबूरियों की कोई हद नहीं है. दिल्ली एम्स (AIIMS) में कार्यरत नर्स राखी जॉन के साथ हुई एक घटना इस बात को साबित करती है. जॉन कोविड मरीजों के इलाज में इस कदर लगी हुई हैं कि वे इसी वायरस के चलते दुनिया छोड़ गई अपनी दादी को आखिरी बार भी नहीं देख पाईं. एक ओर उनकी दादी केरल में अंतिम सांसें ले रही थीं, तो दूसरी ओर एम्स में उनके सामने मरीजों का इलाज जारी था. ऐसे में जॉन ने मरीजों के पास रहकर उनका उपचार करना ज्यादा जरूरी समझा.

द इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, जॉन की अपनी दादी से आखिरी बार बात उनके ICU में भर्ती होने से एक दिन पहले हुई थी. वे अपनी दादी को अम्मा कहती थीं. हालांकि, बीते रविवार को 78 वर्षीय अम्मा का कोविड के चलते निधन हो गया है. वे बताती हैं 'मैं उस दिन बहुत दुखी थी... उन्होंने मुझे अपने बच्चे की तरह बड़ा किया था, 8 साल की उम्र में मां की ल्यूकेमिया से मौत के बाद उन्होंने मेरी शिक्षा और सभी चीजों का ध्यान रखा.'

अस्पताल में कोरोना मरीजों की मौत के बाद उड़ा लेते थे उनके फोन, दो कर्मचारी गिरफ्तार

Youtube Video

उन्होंने कहा, 'वे मेरी अम्मा थीं... लेकिन यह बीमारी ऐसी है कि जो मरीज अपने प्रियजनों को आखिरी बार देखना चाहते हैं और परिवार जो आखिरी अलविदा कहना चाहते हैं, वे ऐसा नहीं कर पा रहे हैं.' जॉन ने फैसला किया कि केरल में दादी के अंतिम संस्कार से ज्यादा मरीजों के पास उनकी मौजदूगी जरूरी है. वे बताती हैं, 'जब मैं अपने वार्ड में मरीजों को देखती हूं, तो मुझे अम्मा का ख्याल आता है. यहां के स्टाफ समेत कई लोग मेरे जैसे ही हालात में हैं.'



उन्होंने कहा, 'अगर स्वास्थ्यकर्मी छुट्टियां लेने लगेगा, तो लोगों की देखभाल कौन करेगा? हम में से कई नर्स और डॉक्टर संक्रमित हो रहे हैं, लेकिन सैनिटेशन वर्कर से लेकर सिक्युरिटी गार्ड्स तक सभी हमारी मदद करने के लिए काफी मेहनत कर रहे हैं.' वे लोगों से कोविड नियमों का पालन करने की अपील करती हैं. जॉन इस साल 25 अप्रैल से कोविड ड्यूटी पर हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज