लाइव टीवी

AIIMS ने कहा-चिदंबरम को भर्ती करने की जरूरत नहीं, हाईकोर्ट ने तिहाड़ प्रशासन को दिए मास्क और साफ पानी देने के आदेश

News18Hindi
Updated: November 1, 2019, 5:11 PM IST
AIIMS ने कहा-चिदंबरम को भर्ती करने की जरूरत नहीं, हाईकोर्ट ने तिहाड़ प्रशासन को दिए मास्क और साफ पानी देने के आदेश
एम्स की ओर से कहा गया है कि चिदंबरम को एडमिट करने की जरूरत नहीं है.

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram) ने आईएनएक्स मीडिया मनी लॉन्ड्रिंग मामले (INX Media Money Laundering Case) में चिकित्सा आधार पर अंतरिम जमानत की मांग करते हुए कहा कि उनकी हालत बिगड़ रही है और उन्हें साफ वातावरण में रहने की जरूरत है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 1, 2019, 5:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi Highcourt) को शुक्रवार को बताया गया कि आईएनएक्स मीडिया धनशोधन मामले (INX Media Money Laundering Scam) में तिहाड़ जेल में बंद पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram) ठीक हैं और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराये जाने की आवश्यकता नहीं है.

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने एम्स मेडिकल बोर्ड (AIIMS Medical Board) की रिपोर्ट पढ़ी और कहा कि कांग्रेस नेता को अस्पताल में रहने की जरूरत नहीं है. चिदंबरम की स्वास्थ्य स्थिति की जांच के लिए अदालत के आदेश पर एम्स मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया है.

मेडिकल बोर्ड का होगा गठन
अदालत ने गुरुवार को एम्स निदेशक को निर्देश दिया था कि वह क्रोन की बीमारी से जूझ रहे चिदंबरम के स्वास्थ्य पर राय देने के लिए एक मेडिकल बोर्ड का गठन करें. क्रोन पाचन तंत्र की सूजन संबंधी बीमारी है जिससे पेट दर्द, डायरिया और वजन कम होता है. हाईकोर्ट ने कहा कि हैदराबाद स्थित गैस्ट्रोएंट्रोलॉजिस्ट नागेश्वर रेड्डी को चिदंबरम की मेडिकल कंडीशन पर अपनी राय देने के लिए बोर्ड में शामिल किया जाना चाहिए.

चिदंबरम ने आईएनएक्स मीडिया मनी लॉन्ड्रिंग मामले में चिकित्सा आधार पर अंतरिम जमानत की मांग करते हुए कहा कि उनकी हालत बिगड़ रही है और उन्हें साफ वातावरण में रहने की जरूरत है. उन्होंने हैदराबाद में एशियन इंस्टीट्यूट ऑफ गैस्ट्रोएंट्रोलॉजी (एआईजी) में अपने नियमित चिकित्सक रेड्डी से परामर्श और जांच कराने के लिए छह दिनों के लिए अंतरिम राहत मांगी है.

उन्होंने दावा किया है कि क्रोन की बीमारी के कारण उन्हें 5 अक्टूबर से लगातार तेज पेट दर्द होने के चलते तत्काल इलाज की आवश्यकता है.

चिदंबरम को मिलेंगी ये चीजें
Loading...

चिदंबरम की अंतरिम जमानत याचिका की सुनवाई कर रहे न्यायमूर्ति सुरेश कैत ने तिहाड़ जेल के अधीक्षक को चिदंबरम को स्वच्छ परिवेश, मिनरल वॉटर, घर का बना भोजन और मच्छरदानी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए. अदालत ने यह भी निर्देश दिए कि चिदंबरम की नियमित स्वास्थ्य जांच की जाए.

चिदंबरम की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने कहा कि उन्हें किसी और निर्देश की आवश्यकता नहीं है. इसके बाद अदालत ने याचिका का निस्तारण कर दिया.

ये भी पढ़ें-

प्रदूषण और ग्लोबल वॉर्मिंग बढ़ाने में आप कितने भागीदार हैं, ऐसे नापें
Odd-Even रूल पर घिरी केजरीवाल सरकार, हाईकोर्ट ने इस वजह से भेजा नोटिस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 4:48 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...