Assembly Banner 2021

पीएम मोदी के कोवैक्सीन लगाने पर AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने क्या कहा

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी. (ANI/1 March 2021)

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी. (ANI/1 March 2021)

Coronavirus Vaccination: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को नई दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में कोविड-19 टीके की पहली खुराक ली.

  • Share this:

नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस के खिलाफ दूसरे चरण के टीकाकरण अभियान के तहत, सोमवार से वरिष्‍ठ नागरिकों और गंभीर बीमारियों से पीड़ित 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को टीका लगाया जा रहा है. इसी दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नई दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में कोविड-19 टीके की पहली खुराक ली. पीएम मोदी को भारत बायोटेक के कोवैक्सीन टीके की पहली खुराक लगाई गई है.


इस बीच ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि कोरोना टीके के तौर पर पीएम मोदी का कोवैक्सीन लेना एक संयोग है. उन्होंने कहा, 'जर्मनी की सरकार के मुताबिक कोविशील्ड टीका 64 या उससे अधिक उम्र के लोगों पर उतना असरदार नहीं है जितना कि 18 से 64 साल के लोगों पर. क्या सरकार इस संशय को दूर कर सकती है. यह एक संयोग है कि पीएम मोदी ने भारत बायोटेक द्वारा निर्मित कोवैक्सीन टीका लिया. हालांकि मैं सभी से वैक्सीन लेने के लिए कहता हूं.'


टीका लगवाने के बाद मोदी ने ट्वीट किया, 'मैंने एम्स में कोविड-19 टीके की पहली खुराक ली. कोविड-19 के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में हमारे डॉक्टरों और वैज्ञानिकों ने बहुत कम समय में असाधारण काम किया है.' उन्होंने कहा, 'मैं उन सभी लोगों से कोरोना वायरस का टीका लगवाने की अपील करता हूं, जो इसके पात्र हैं. आइए, हम सब मिलकर भारत को कोविड-19 से मुक्त बनाएं.' प्रधानमंत्री ने ट्वीट के साथ ही टीका लगवाते हुए अपनी एक तस्वीर भी साझा की, जिसमें वह असमिया गमछा पहने दिख रहे हैं और मुस्कुराते हुए टीका लगवा रहे हैं. उनके साथ इस तस्वीर में निवेदा के अलावा केरल की रहने वाली एक अन्य नर्स रोसम्मा अनिल भी दिख रही हैं.

सरकार ने बुधवार को घोषणा की थी कि 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों तथा किसी दूसरी बीमारी से ग्रसित 45 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोगों को एक मार्च से कोरोना वायरस रोधी टीका सरकारी केंद्रों पर नि:शुल्क लगाया जाएगा. निजी क्लिनिकों एवं केंद्रों पर उन्हें इसके लिए शुल्क देना पड़ेगा. टीकाकरण के लिए लोग कोविन टू-पाइंट जीरो पोर्टल या आरोग्‍य सेतु जैसे अन्‍य आईटी ऐप्‍लिकेशन पर अपना पंजीकरण करा सकेंगे. (इनपुट भाषा से भी)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज