• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • 9 में से एक बच्ची 5 से कम उम्र में दम तोड़ देती है... लेकिन सरकार को अफगानी महिलाओं की टेंशनः ओवैसी

9 में से एक बच्ची 5 से कम उम्र में दम तोड़ देती है... लेकिन सरकार को अफगानी महिलाओं की टेंशनः ओवैसी

AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने अफगानिस्तान मुद्दे पर भारत की प्रतिक्रिया के संदर्भ में टिप्पणी की है.

AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने अफगानिस्तान मुद्दे पर भारत की प्रतिक्रिया के संदर्भ में टिप्पणी की है.

ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा- 'अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे से पाकिस्तान को सबसे ज्यादा फायदा हुआ है.'

  • Share this:

    नई दिल्ली. अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबान (Taliban) के कब्जे का असर भारत की घरेलू राजनीति पर भी देखने को मिल रहा है. हाल ही में उत्तर प्रदेश के संभल से समाजवादी पार्टी (सपा) के सांसद डॉक्टर शफीकउर्रहमान बर्क के खिलाफ तालिबान के समर्थन में बयान देने का मामला दर्ज कराया गया है. उधर, ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के सांसद असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने अफगानिस्तान मुद्दे को लेकर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. समाचार एजेंसी ANI के अनुसार ओवैसी ने कहा- ‘एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत में नौ में से एक बच्ची की मृत्यु 5 वर्ष की आयु से पहले हो जाती है. यहां महिलाओं पर अत्याचार और अपराध होते हैं. लेकिन, वे (केंद्र) चिंतित हैं कि अफगानिस्तान में महिलाओं के साथ क्या हो रहा है. क्या यह यहां नहीं हो रहा है?’

    ओवैसी ने कहा- ‘अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे से पाकिस्तान को सबसे ज्यादा फायदा हुआ है. विशेषज्ञ कह रहे हैं कि अलकायदा और दाएश अफगानिस्तान के कुछ इलाकों में पहुंच चुके हैं. ISI भारत का दुश्मन है. आपको याद होगा कि ISI का तालिबान पर नियंत्रण है. वह इसे कठपुतली की तरह इस्तेमाल करता है.’

    सपा सांसद ने क्या कहा था?
    इससे पहले सपा सांसद बर्क ने संभल में संवाददाताओं से बातचीत में सोमवार को कहा था कि तालिबान एक ताकत है और उसने अफगानिस्तान में अमेरिका के पांव जमने नहीं दिये. तालिबान अब अपने देश को खुद चलाना चाहते हैं.

    उन्होंने कहा था, ‘हमारा देश जब अंग्रेजों के कब्जे में था तो सभी हिंदुस्तानियों ने मिलकर आजादी की जंग लड़ी थी. अफगानिस्तान पर अमेरिका ने कब्जा कर रखा था. उससे पहले इस मुल्क पर रूस का कब्जा था. मगर अफगान आजाद रहना चाहते हैं. वह अपने देश को आजाद कराना चाहते हैं. यह उनका व्यक्तिगत मामला है, इसमें हम क्या दखल देंगे?’

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज