कोरोना ड्यूटी के लिए वायुसेना के C-17 ग्लोब मास्टर तैनात, सिंगापुर से ऑक्सीजन के खाली कंटेनर लाए जा रहे भारत

वायुसेना के हेलिकॉप्टर कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में अहम भूमिका निभा रहे हैं.

वायुसेना के हेलिकॉप्टर कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में अहम भूमिका निभा रहे हैं.

Indian Air Force: कोरोना को भारत से हराने के लिए भारतीय वायुसेना के ट्रांसपोर्टर विमान और हेलिकॉप्टर लगातार उड़ान भर रहे हैं. वायुसेना के ये विमान ऑक्सीजन के खाली कंटेनरों को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने में लगे है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 24, 2021, 5:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत में एक बार फिर कोरोना वायरस ने अपने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं. इस बार हालात पहले से ज्यादा बुरे हैं. देश में प्रतिदिन 3 लाख से ज्यादा नए मामले दर्ज किए जा रहे हैं. कोरोना से निपटने के लिए देश का पूरा सरकारी तंत्र अब एक्शन मोड में दिखाई दे रहा है. केन्द्र सरकार , राज्य सरकार और सेना पूरी तरह से लोगों को राहत, जीवनदायनी ऑक्सीजन और दवाओं की कमी को पूरा करने में लग गए है.

कोरोना को भारत से हराने के लिए भारतीय वायुसेना के ट्रांसपोर्टर विमान और हेलिकॉप्टर लगातार उड़ान भर रहे हैं. वायुसेना के ये विमान ऑक्सीजन के खाली कंटेनरों को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने में लगे है. वायुसेना की शनिवार की सुबर शुरू हुई तड़के 2 बजे जब ग़ाज़ियाबाद के हिंडन एयर बेस से भारतीय वायुसेना के C-17 ने सिंगापुर के चांगी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के लिए उड़ान भरी.

देर शाम पानागढ़ एयर पोर्ट पर करेगा लैंड

इस विमान के जरिए कुल 4 क्रायोजेनिक ऑक्सीजन टैंक के कंटेनरो को सिंगापुर से लाया जा रहा है. सुबह 2 बजे उड़ान भरने के बाद C-17 सुबह 7:45 बजे सिंगापुर एयरपोर्ट पर लैंड हुआ. जहां 4 ऑक्सीजन टैंक सिंगापुर लोड किया गया और भारत के लिये रवाना हुआ. भारतीय समयानुसार विमान देर शाम तक पानागढ एयर पोर्ट पर लैंड करेगा. वहां पर इन कंटेनरों को उतारने के बाद वो अपने अगले मिशन के लिए रवाना होगा.
जोधपुर से जामनगर ले जाए गए कंटेनर

एक C-17 सिंगापुर गया तो बाकी भी देश के अलग-अलग हिस्से में ऑक्सीजन के ख़ाली कंटेनरों को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने में जुटे रहे. हिंडन एयर बेस से सुबह 8 बजे एक C-17 ग्लोब मास्टर ट्रेंसपोर्ट विमान ने पुणे के लिए उड़ान भरी 2 ख़ाली लिक्विड सिंलेडर के कंटेनर ट्रैक को लोड किया गया और इन कंटेनरों को जामनगर एयर बेस पर पहुचाया गया. इसके साथ ही C-17 दो ख़ाली ऑक्सीजन कंटेनरों को जोधपुर से जामनगर ले जाया गया.





इसी तरह कोरोना के खिलाफ जंग में वायुसेना का ऑपरेशन लगातार जारी है. सी-17 के साथ ही अमेरीका से लिए गए हेवी लिफ़्ट हेलिकॉप्टर चिनूक को भी कोरोना सहायता के लिए तैनात किया गया है. शनिवार को तकरीबन 850 किलो लोड लेकिन जम्मू से लेह पहुंचा. इससे पहले भी देश के अलग अलग राज्यों से दिल्ली के कोविड सेंटर के लिए डॉक्टर , पैरामैडिक्स , ऑक्सीजन और जरूरी दवाओं को लाने ले जाने के लिए वायुसेना का इस्तेमाल किया जा चुका है. ख़ाली कंटेनरों को लाने ले जाने का सिलसिला लगातार जारी है भारतीय वायुसेना के कोरोना के ख़िलाफ़ ऑपरेशन पिछले साल लॉकडाउन के दौरान से जारी रहे और एक बार फिर से ऑपरेशन शुरू किए गए है और वो भी दोगुनी ताक़त से.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज