Assembly Banner 2021

जम्मू कश्मीरः वायुसेना ने घाटी में फंसे हुए 381 यात्रियों को विमान के जरिए पहुंचाया लद्दाख

राजमार्ग को 28 फरवरी को फिर से खोल दिया गया था.

राजमार्ग को 28 फरवरी को फिर से खोल दिया गया था.

Indian Air Force: करगिल कुरियर सर्विस के मुख्य संयोजक आमिर अली ने कहा कि 197 यात्रियों को सी-17 विमान के जरिये श्रीनगर से लेह जबकि 184 यात्रियों को जम्मू से लेह पहुंचा.

  • Share this:
जम्मू. भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) ने जम्मू-कश्मीर में फंसे 381 लोगों को शनिवार को विमान से लद्दाख पहुंचाया. करगिल कुरियर सर्विस के मुख्य संयोजक आमिर अली ने कहा कि 197 यात्रियों को सी-17 विमान के जरिये श्रीनगर से लेह जबकि 184 यात्रियों को जम्मू से लेह पहुंचा.

पिछले साल दिसंबर में हुई भारी बर्फबारी के चलते 434 किलोमीटर लंबे श्रीनगर-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग को बंद कर दिया गया था. इसके मद्देजनर जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में फंसे यात्रियों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने के लिये वायुसेना नियमित रूप से सी-17, सी-130 और एन-32 विमानों का संचालन करती है.

बर्फबारी के कारण बंद किय गया था राजमार्ग
राजमार्ग को 28 फरवरी को फिर से खोल दिया गया था. लेकिन इस सप्ताह की शुरुआत में ताजा बर्फबारी होने के चलते उसे बंद करना पड़ा. जनवरी में दोनों केन्द्रशासित प्रदेशों के बीच करगिल कुरियर सर्विस शुरू होने के बाद से वायुसेना हजारों यात्रियों को हवाई मार्ग से एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जा चुकी है.
सैनिकों ने गर्भवती महिला को पहुंचाया अस्पताल


इससे पहले शुक्रवार को ही जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के एक सुदूर इलाके में बर्फबारी के कारण सड़कें बंद होने के चलते सैनिकों की इकाई एक गर्भवती महिला को अस्पताल ले गई. इस दौरान सैन्य इकाई को मुश्किलों का सामना करना पड़ा. सेना ने एक विज्ञप्ति में कहा, '12 मार्च को करीब 11 बजे मरकुल कंपनी ऑपरेटिंग बेस (सीओबी) को दर्दपुरा वार्ड सदस्य गुलाम नबी का फोन आया कि दर्दपुरा के कोशी मोहल्ले की निवासी खुर्शीदा बेगम के पेट में असहनीय दर्द हो रहा है, लेकिन उनके परिवार के पास उन्हें अस्पताल ले जाने के लिए कोई साधन नहीं है. भारी बर्फबारी और बारिश के चलते सड़क पर वाहन नहीं चल रहे हैं.'

ये भी पढ़ेंः- COVID-19: पुणे से लेकर औरंगाबाद तक महाराष्ट्र के कई शहरों में लगाई गई पाबंदियां- 10 खास बातें

बारिश होने के कारण फिर से शीतलहर शुरू
अधिकारियों ने बताया कि कश्मीर के ऊपरी हिस्सों में बर्फबारी और मैदानी इलाकों में बारिश होने के कारण फिर से शीतलहर शुरू हो गई है और तापमान सामान्य से सात डिग्री सेल्सियस नीचे चला गया है. मौसम विज्ञान विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि श्रीनगर में अधिकतम तापमान 8.2 डिग्री सेल्सियस मापा गया जो सामान्य से छह डिग्री सेल्सियस कम है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज