केरल विमान हादसा: लैंडिंग से पहले हुई थी फ्रिक्‍शन की जांच, पायलट का खराब निर्णय बना दुर्घटना का कारण- DGCA

केरल विमान हादसा:  लैंडिंग से पहले हुई थी फ्रिक्‍शन की जांच, पायलट का खराब निर्णय बना दुर्घटना का कारण- DGCA
नागर विमानन मंत्री हरदीप पुरी केरल पहुंच चुके हैं और विमान हादसे का जायजा ले रहे हैं.

एअर इंडिया एक्सप्रेस (Air India Express) का एक विमान शुक्रवार को केरल (Kerala) के कोझिकोड एयरपोर्ट (Kozhikode Airport) के रनवे पर फिसलने के बाद दो हिस्सों में टूट गया. मृतकों में मुख्य पायलट कैप्टन दीपक साठे और उनके सह-पायलट अखिलेश कुमार भी शामिल हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 9, 2020, 12:20 AM IST
  • Share this:
कोझिकोड. दुबई से 190 लोगों के लेकर आ रहा एअर इंडिया एक्सप्रेस (Air India Express) का एक विमान शुक्रवार को केरल (Kerala) के कोझिकोड एयरपोर्ट (Kozhikode Airport) के रनवे पर फिसलने के बाद दुर्घटनाग्रस्‍त (Plane Crash) हो गया. विमान रनवे पर फिसलने के बाद खाई में गिर पड़ा और दो हिस्सों में टूट गया. इस हादसे में अब तक 18 लोगों की मौत हो चुकी है. ब​ता दें कि कैश विमान का डिजिटल फ्लाइट डेटा रिकॉर्डर बरामद कर लिया गया है. इसकी मदद से डेटा को डिकोड कर हादसे के कारणों की सही जानकारी का पता लगाया जा सकता है.

विदेश राज्यमंत्री वी मुरलीधरन ने बताया पायलट की समझदारी के कारण एक बड़ा हादसा होने से बच गया. उन्होंने बताया कि पायलट ने विमान के क्रैश होने से पहले ही इंजन को बंद कर दिया था, जिसके कारण हादसे के बाद विमान में आग नहीं लगी. अगर आग लग जाती तो बड़ा हादसा हो सकता था.

डीजीसीए के महानिदेशक अरुण कुमार ने CNN-News18 से बातचीत में कहा कि कालीकट हवाई अड्डा 11वां सबसे व्‍यस्‍त एयरपोर्ट है. ऐसा गलत कहा जा रहा है कि फिसलन की जांच नहीं की गई थी. अरुण कुमार ने कहा क‍ि लैंडिंग करते समय पायलट का खराब निर्णय दुर्घटना का कारण है. सुरक्षित लैंडिंग के लिए रनवे पर्याप्‍त लंबा है.



केरल के मुख्‍यमंत्री कार्यालय की ओर से बताया गया कि विमान हादसे में मारे गए लोगों सहित सभी यात्रियों का कोविड-19 टेस्‍ट कराया गया. अब तक हादसे के केवल एक पीड़ित में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है.
केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट किया, 'विमान में 190 यात्री सवार थे, उनमें से 18 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. जबकि 149 लोगों को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है. जिसमें से 23 को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई.' हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि कुछ लोगों की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है. उनमें से तीन लोग वेंटिलेटर पर हैं. उन्‍होंने कहा कि हमने दुर्घटना स्‍थल का दौरा किया है और दो ब्‍लैक बॉक्‍स बरामद किए गए हैं. ब्‍लैक बॉक्‍स के डेटा का विश्‍लेषण करने के बाद दुर्घटना का सटीक कारण पता चल पाएगा.

पुलिस और एयरलाइंस के अधिकारियों ने बताया कि मृतकों में मुख्य पायलट कैप्टन दीपक साठे और उनके सह-पायलट अखिलेश कुमार भी शामिल हैं. साठे भारतीय वायु सेना में पहले विंग कमांडर रह चुके थे. एअर इंडिया एक्सप्रेस ने आधी रात को जारी बयान में कहा, दुर्भाग्य से पायलटों की मौत हो गई है और दुख की इस घड़ी में हम उनके परिजनों के संपर्क में हैं. नागर विमानन मंत्री हरदीप पुरी केरल पहुंच चुके हैं और विमान हादसे का जायजा ले रहे हैं.
नागर विमानन मंत्रालय ने कहा कि बी737 द्वारा दुबई से संचालित उड़ान संख्या आईएक्स 1344 शुक्रवार को कोझिकोड में शाम सात बजकर 41 मिनट पर रनवे पर फिसल गया. मंत्रालय के मुताबिक, विमान में 10 नवजात समेत 184 यात्री, दो पायलट और चालक दल के चार सदस्य थे. यह वंदे भारत मिशन के तहत भारतीयों को वापस घर लाने के लिए चलाई गई विमान सेवा थी.इसे भी पढ़ें :- कोझिकोड एयरपोर्ट जैसे 'टेबल टॉप' रनवे लैडिंग के लिए होते हैं खतरनाक, मंगलौर में भी हुआ था हादसाविमान हादसे पर प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति ने जताया दुखकेरल में हुए विमान हादसे पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ​विमान हादसे को लेकर केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन से बात की है और हर संभव सहायता देने का आश्वासन दिया है. पीएम मोदी ने विदेश राज्यमंत्री मुरलीधरन को हालात का जायजा लेने के लिए केरल भेजा है. देर रात कोझीकोड पहुंचे विदेश राज्यमंत्री ने अधिकारियों के साथ बैठक कर हादसे के संबंध में जानकारी ली. वे पीड़ितों के परिजनों से भी मुलाकात करेंगे.


इसे भी पढ़ें :- केरल में Air India का विमान रनवे से फिसला, कुल 184 लोग थे सवार

रनवे पर उतरने के बाद रुका ही नहीं विमान
विमान हादसे में बचाए गए एक यात्री रियास ने बताया कि लैंडिंग से पहले विमान ने दो बार हवा में हवाईअड्डे का चक्कर लगाया. उन्होंने बताया कि मैं पीछे की सीट पर था. एक तेज आवाज हुई और मुझे नहीं पता उसके बाद क्या हुआ. एक अन्य यात्री फातिमा ने कहा कि विमान काफी ताकत से नीचे उतरा और आगे बढ़ा.डीजीसीए के बयान में कहा गया कि हवाईपट्टी-10 पर उतरने के बाद विमान रुका नहीं और हवाईपट्टी के अंत तक पहुंचकर खाई में गिरने के बाद दो हिस्सों में टूट गया. एअर इंडिया एक्सप्रेस के बेड़े में सिर्फ बी737 विमान हैं.

इसे भी पढ़ें :- केरल विमान हादसे में Sword of honor विजेता पायलट कैप्टन साठे की मौत

हरदीप पुरी ने विमान हादसे की जांच के दिए आदेश

नागर विमानन मंत्री हरदीप पुरी ने ट्वीट कर कहा कि वह विमान हादसे से बहुत दुखी और व्यथित हैं. उन्होंने बताया कि एअर इंडिया और भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के राहत दलों को दिल्ली और मुंबई से तत्काल रवाना किया जा रहा है. उन्होंने ट्वीट किया, यात्रियों की मदद के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं. विमान दुर्घटना जांच ब्यूरो (एएआईबी) हादसे की औपचारिक जांच करेगा. उन्होंने बताया, एअर इंडिया एक्सप्रेस की उड़ान संख्या एएक्सबी-1344 दुबई से कोझिकोड आ रही थी. विमान बारिश के कारण रनवे से फिसल गया और 35 फुट गहराई में गिरकर दो हिस्सों में टूट गया.

हेल्पलाइन नंबर जारी
सीआईएसएफ के महानिदेशक राजेश रंजन के मुताबिक बचाव कार्य में जवान लगे हुए हैं. विमान में सवार यात्रियों को निकालने की हर मुमकिन कोशिश की जा रही है. हादसे के बाद हेल्पलाइन नंबर (0565463903, 0543090572, 0543090572, 0543090575) भी जारी किए गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज