दिल्लीवासियों के लिए खुशखबरी, कल साफ होगी आबो-हवा

सफर ने बताया- मिलेगी प्रदूषण से कुछ राहत, गुरुवार को दर्ज किया गया था सबसे ज्यादा प्रदूषण

News18Hindi
Updated: May 11, 2019, 1:39 PM IST
News18Hindi
Updated: May 11, 2019, 1:39 PM IST
दिल्ली वासियों के लिए खुशखबरी है, शनिवार को देश की राजधानी की हवा कुछ साफ होने की उम्मीद है. उत्तर पश्‍चिमी भारत में आई धूल भरी आंधी के बाद दिल्ली की हवा काफी खराब हो गई थी और सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) के अनुसार यह सीवीयर कैटेगरी में रखी गई थी.

सफर के अनुसार एयर क्वालिटी इंटेक्स में इसे 372 के स्तर पर देखा गया था जो काफी खराब थी. माना जाता है कि 279 के स्तर से ही यह काफी खराब के स्तर में आ जाती है. सफर के अनुसार शुक्रवार को भी धूल भरी हवाएं चली हैं लेकिन शनिवार को ऐसा नहीं होगा जिससे प्रदूषण का स्तर कुछ कम होगा. एयर क्वालिटी इंडेक्स शनिवार को काफी खराब से खराब की स्थिति में आ जाएगा. हालांकि दिल्ली और आसपास के इलाकों में धूल भरी आंधी चलने के कारण राष्ट्रीय राजधानी में पिछले कुछ दिनों से हवा में प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ रहा है. यह आने वाले कुछ दिन और बरकरार रह सकता है. वहीं गुरुवार को दिल्ली की हवा सबसे ज्यादा प्रदूषित दर्ज की गई. इस दौरान एयर क्वालिटी इंडेक्स को 408 के स्तर पर दर्ज किया गया था.



ये भी पढ़ें- पाक एयर स्पेस से भारत में दाखिल विमान को IAF विमानों ने जयपुर में उतारा

इस स्तर पर खराब तो इस पर अच्छी

एयर क्वालिटी इंडेक्स के अनुसार 0 से 50 के स्तर में यह अच्छी मानी जाती है, वहीं 51 से 100 के स्तर तक यह ठीक होती है. 101 से 200 के स्तर तक इसे मॉडरेट कैटेगरी में रखा जाता है, इधर 201 से 300 होने पर यह खराब कैटेगरी में मानी जाती है. 301 से 400 में इसे काफी खराब कहा जाता है. सफर के अनुसार पीएम 2.5 का स्तर 408 पर और पीएम 10 का स्तर 117 पर दर्ज किया गया. बताया जा रहा है कि पीएम 2.5 का स्तर सेहत के लिए काफी नुकसानदायक हो सकता है.

ये भी पढ़ें: SSC CGL 2017 Tier-3 का रिजल्ट घोषित, करीब 36000 ने किया क्वालीफाई, यहां देखें पूरी लिस्ट

हो सकता है कैंसर या आ सकता है हार्टअटैक
Loading...

सफर के अनुसार पीएम 2.5 प्रदूषण के कारक यदि लगातार बने रहते हैं तो लोगों में कैंसर जैसी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है. वहीं इसके विपरीत असर हार्ट अटैक जैसी जानलेवा परेशानी भी खड़ी कर सकते हैं. धूल के तूफान के दौरान होने वाले प्रदूषण का मूल कारण पीएम 10 होता है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...