Assembly Banner 2021

24 अगस्त के बाद महंगा हो सकता है हवाई सफर, ये है बड़ा कारण!

अगले महीने से कुछ देशों के लिए शुरू की जा सकती हैं विमान सेवाएं.

अगले महीने से कुछ देशों के लिए शुरू की जा सकती हैं विमान सेवाएं.

25 मई से तीन महीने के लिए घरेलू विमान सेवाओं (Domestic Airlines) को एक बार फिर से खोला गया था और उस समय विमान में सफर करने के लिए किराए की सीमा भी तय की गई थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के तेजी से बढ़ते संक्रमण को देखते हुए पिछले 24 मार्च से लॉकडाउन (Lockdown) चल रहा है. लॉकडाउन के दौरान सभी विमान सेवाओं को पूरी तरह से बंद कर दिया गया था. 25 मई से तीन महीने के लिए घरेलू विमान सेवाओं (Domestic Airlines) को एक बार फिर से खोला गया था और उस समय विमान में सफर करने के लिए किराए की सीमा भी तय की गई थी. हालांकि इस दौरान विमान कंपनियों को उतने यात्री नहीं मिले, जिसकी उम्मीद की जा रही थी. ऐसे में अब 24 अगस्त को तीन महीने की समयसीमा खत्म हो रही है, ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि 24 अगस्त के बाद से इनकी कीमतों में बढ़ोतरी हो सकती है.

इसी बीच अब खबर है कि अगले महीने से कुछ देशों के साथ ट्रैवल बबल बनाने के साथ विमान सेवाओं को फिर से शुरू किया जा सकता है. यहां समझने वाली बात ये है कि आखिर ट्रैवल बबल होता क्या है. कोरोना महामारी की इस घड़ी में एक देश दूसरे देश से विमान सेवाएं शुरू करने का समझौता करता है. इसके तहत दोनों देश के यात्री एक दूसरे देश में सफर कर सकते हैं. एक देश इस तरह का बबल कई और देशों के साथ भी बना सकता है.

उदाहरण के तौर पर अगर भारत, बांग्लादेश और श्रीलंका के साथ ट्रैवल बबल बनाता है तो इन दोनों देशों के यात्री भारत में सफर करने आ सकते हैं और भारत के यात्री भी इन दोनों देशों में जा सकते हैं. लेकिन अगर भारत अमेरिका के साथ ट्रैवल बबल बनाता है तो वहां के यात्री भारत आकर यहां से श्रीलंका या बांग्लादेश नहीं जा सकेंगे.



इसे भी पढ़ें :- घरेलू विमान सेवा के बाद अब चार्टर्ड प्लेन को भी मिली मंजूरी, सरकार ने जारी की गाइडलाइन
सरकार की ओर से अगले महीने कुछ देशों में विमान सेवाएं शुरू करने की योजना है. विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया कि महामारी से पहले हमारे पास हर दिन 3.5 लाख घरेलू यात्री हुआ करते थे. 25 मई को जब हमने फिर से घरेलू हवाई सेवाओं को शुरू किया उस वक्त हमारे पास 30 हजार यात्री थे. इसके बाद एक दिन में सबसे ज्यादा 72 हजार घरेलू यात्रियों ने विमान से सफर किया है. उन्होंने कहा कि मैं जुलाई के मध्य से पहले 1.5-1.6 लाख घरेलू यात्रियों की उम्मीद कर रहा हूं, जो पूर्व-कोरोना स्तर का आधा है. ऐसे में विमान कंपनियों को भी काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज