लाइव टीवी

महाराष्ट्र में मचे सियासी घमासान के बीच अजित पवार वापस लौटे घर

News18Hindi
Updated: November 24, 2019, 11:21 AM IST
महाराष्ट्र में मचे सियासी घमासान के बीच अजित पवार वापस लौटे घर
अजित पवार (मध्य में) शनिवार को पूरे दिन मुंबई में अपने भाई के घर पर रुके थे. (फाइल)

महाराष्ट्र (Maharashtra) के उपमुख्यमंत्री के रूप में शनिवार को शपथ लेने वाले राकांपा (NCP) नेता अजित पवार (Ajit Pawar) शनिवार को पूरे दिन मुंबई में अपने भाई के घर पर रुके थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 24, 2019, 11:21 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) के उपमुख्यमंत्री के रूप में शनिवार को शपथ लेने वाले एनसीपी नेता अजित पवार (Ajit Pawar) रविवार तड़के यहां चर्चगेट के पास स्थित अ पने निजी आवास लौट आए. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, उन्होंने शनिवार मुंबई में अपने भाई के घर पर बिताया, जबकि उनके चाचा और राकांपा प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) ने पार्टी की एक बैठक में भाग लिया, जहां पार्टी के अधिकांश विधायक मौजूद थे.

इस बीच, देवेंद्र फडणवीस के दोबारा मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के एक दिन बाद रविवार को मुंबई में भाजपा विधायकों की एक बैठक होनी है. राकांपा, कांग्रेस और शिवसेना यह सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहे हैं कि उनके विधायकों की खरीद-फरोख्त न की जा सके. इसे देखते हुए राकांपा और शिवसेना अपने विधायकों को मुंबई के लग्जरी होटलों में ले गई, जबकि कांग्रेस सूत्रों ने बताया कि वे अपने विधायकों को जयपुर ले जा सकते हैं.

288 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा सरकार को बहुमत साबित करने के लिए 145 विधायकों का समर्थन जुटाना होगा. अभी तक इन खबरों की कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है कि राज्यपाल ने फडणवीस को 30 नवंबर तक विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए कहा है. महाराष्ट्र में हुए आश्चर्यजनक उलटफेर में शनिवार को भाजपा के देवेंद्र फडणवीस की मुख्यमंत्री के रूप में वापसी हुई जबकि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता अजित पवार ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली. यह घटनाक्रम ऐसे समय हुआ जब कुछ घंटे पहले ही कांग्रेस और राकांपा ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में सरकार बनाने पर सहमति बनने की घोषणा की थी.

इसे भी पढ़ें :- महाराष्‍ट्र का सत्‍ता संग्राम: शाम को शरद पवार के साथ दिखे NCP के तीन और विधायक 'लापता'

शरद पवार ने कहा यह अजित पवार का निजी फैसला
शिवसेना ने देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाने के महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की मनमानी और दुर्भावनापूर्ण कार्रवाई के खिलाफ उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाया गया है. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा आनन-फानन में राजभवन में शनिवार सुबह आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में नाटकीय तरीके से फडणवीस और पवार को शपथ दिलाए जाने के बाद राकांपा में दरार दिखाई देने लगी. पार्टी अध्यक्ष शरद पवार ने भतीजे अजित पवार के कदम से दूरी बनाते हुए कहा कि फडणवीस का समर्थन करना उनका निजी फैसला है न कि पार्टी का.

इसे भी पढ़ें :- महाराष्ट्र में बीजेपी की सरकार बनाने-गिराने में अब अहम हुए ये 29 विधायक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 24, 2019, 10:38 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर